• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Sonipat
  • Pass System Of Girl Students Will Be Applicable In Private Buses, Permits Will Be Canceled For Those Who Do Not Believe

छात्र-छात्रों के बस पास का मामला:निजी बसों में लागू होगी छात्राओं की पास व्यवस्था, न मानने वालों का रद्द होगा परमिट

सोनीपत2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मौजूदा शैक्षणिक सत्र में अब तक 1433 पास बनवाए गए, इनमें 300 छात्राएं

छात्राओं के पास को लेकर अक्सर मनमानी करने वाले निजी बस चालकों को लेकर अब सरकार के निर्देश का असर पड़ने जा रहा है। विभाग की ओर से स्थानीय स्तर पर लागू कर दिया गया है कि हर हाल में सरकारी ही नहीं निजी बस संचालकों को भी छात्राओं को बस पास की सुविधा को मानना होगा। जो बस चालक परिचालक इसे लेकर छात्राओं के साथ बदसलूकी करेंगे उनका परमिट रद्द किया जाएगा। छात्राओं को कहा गया है कि वे बसों में पास को लेकर कोई भी बदसलूकी का वीडियो बनाए उस पर तत्काल एक्शन लिया जाएगा।
जिले में कई गांव के रूट ऐसे हैं जहां सरकारी बसों की सुविधा नहीं है वहीं कई जगह नाममात्र रोडवेज की बसें है। वहां निजी बसों में ही छात्रों को यात्रा करनी पड़ती है, लेकिन निजी बसों में छात्रों के लिए रोडवेज के बस पास मान्य नहीं होने का दावा करते हैं। इस कारण छात्रों को पूरा किराया देना पड़ता था। रोडवेज की ओर से अब तक सिर्फ चार ही ग्रामीण रूटों फरमाणा, उमेदगढ़, खानपुर एवं गुहणा पर ही बस सेवा चल रही है जबकि डिमांड 25 से अधिक गांवों के लिए हैं। रोडवेज नहीं होने के कारण निजी बसों में बैठना पड़ता है। छात्राओं का कहना है कि अक्सर छात्राएं बसें चलाने की मांग को लेकर रोडवेज कार्यालय पहुंचती है, अक्सर संबंधित अधिकारी मिलते ही नहीं। रोडवेज की ओर से मौजूदा शैक्षणिक सत्र के लिए अब तक 1433 पास बनवाए गए हैं। जिसमें से महज 300 ऐसे पास है जो छात्राओं के लिए बने हैं। जिनमें छात्राओं को कोई राशि नहीं देनी पड़ती है और वे 150 किलोमीटर तक की यात्रा कर सकती है। वहीं दूसरी ओर 1133 ऐसे पास है जो रियायती दरो पर विद्यार्थियों के बनाए गए हैं। विभिन्न कॉलेजों ने अपने स्तर पर अब बसें शुरू की है। जिससे वे इस परेशानी से छात्राओं को बचा सकें।
परेशानी आती है तो दें शिकायत : राहुल जैन

^कन्या शिक्षा को लेकर रोडवेज साथ है। जिन गांवों के रूट पर कोई भी बस सेवा नहीं है वहां पर नई बस सेवा शुरू करने को लेकर वे विस्तृत मांग पत्र दें तथा अगर किसी रूट पर निजी बस चालक-परिचालकों की परेशानी की जाती है तो उसकी शिकायत भी दे सकते हैं, उस पर तुरंत एक्शन लिया जाएगा। संबंधित स्टाफ को इस बाबत निर्देश दिए जा चुके हैं।
-राहुल जैन, जीएम रोडवेज, सोनीपत

खबरें और भी हैं...