निजी स्कूलों को दी शिक्षा विभाग की डेडलाइन बीती:अभी भी 1357 विद्यार्थी दाखिले से वंचित, लघु सचिवालय पहुंचकर अभिभावकों ने किया प्रदर्शन

सोनीपत21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पात्र विद्यार्थियों के दाखिला नहीं होने का विरोध जताते हुए। - Dainik Bhaskar
पात्र विद्यार्थियों के दाखिला नहीं होने का विरोध जताते हुए।

शिक्षा विभाग के अधिकारियों के तमाम आश्वासन के बावजूद आज भी सैकड़ों पात्र विद्यार्थी दाखिले से वंचित रहे। विभाग की ओर से निजी स्कूल संचालकों को छह जनवरी तक का समय दिया गया था, लेकिन अधिकांश निजी स्कूलों ने व्यवस्था अनुकूल नहीं बनने तक दाखिले पर दी गई रजामंदी हकीकत का रूप नहीं ले सकी। सोनीपत में छह जनवरी तक 921 विद्यार्थियों के नियम 134ए के तहत दाखिले ही हो सके है जबकि सोनीपत के 2544 विद्यार्थियों ने पात्रता परीक्षा क्लियर की थी। 1357 विद्यार्थियों का दाखिला अभी बाकी है।

विभिन्न कारणों के चलते 266 आवेदन रद्द भी किया गया है। यह हाल तब है जब दूसरी बार तिथि बढ़ाने के बाद दाखिला सुनिश्चित करने के लिए शुक्रवार को अंतिम तिथि है। वहीं शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने फिर से कहा है कि जिन स्कूलों ने दाखिला नहीं किया है, उनकी रिपोर्ट निदेशालय को भेजी गई है। इस बीच पुलिस की ओर से उन लोगों पर पुलिस केस दर्ज किया गया है जो डीईओ कार्यालय पर तालाबंदी में शामिल थे।

अभिभावकों ने लघु सचिवालय पर किया प्रदर्शन

नियम 134ए के तहत बच्चों को निजी स्कूलों में दाखिला दिलवाने की मांग को लेकर गुरुवार को लघु सचिवालय पहुंचे अभिभावकों ने जमकर प्रदर्शन किया। इस दौरान डीईओ कार्यालय पर ताला जड़ने वालों के खिलाफ केस दर्ज करने का भी विरोध किया गया। गुस्साए अभिभावकों ने कहा कि जब तक पात्र विद्यार्थियों को अलॉट स्कूलों में दाखिला नहीं मिल जाता, तब तक उनका संघर्ष जारी रहेगा। इस पर उपायुक्त ने कहा कि इस मामले में सभी अधिकारी गंभीरता से काम कर रहे हैं।

नियमों की अवहेलना करने वाले निजी स्कूलों को नोटिस भी जारी किए गए हैं। साथ ही इस बारे में चंडीगढ़ उच्चाधिकारियों को भी अवगत कराया गया है। उन्होंने बुधवार को डीईओ कार्यालय पर ताला जडऩे की घटना को गलत बताते हुए कहा कि कोई भी अभिभावक ऐसे कदम ना उठाएं। मॉडल टाउन स्थित खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय पहुंचे अभिभावकों ने कुछ निजी स्कूलों के खिलाफ दाखिला न देने की शिकायत दी।

निजी स्कूलों पर कार्रवाई नहीं, हमने ताला जड़ा तो केस दर्ज

छात्र-अभिभावक संघ की सदस्य प्रवेश कुमारी ने कहा कि बच्चों को दाखिला दिलवाने के लिए अभिभावक 20 दिनों से संघर्षरत हैं। इस दौरान उपायुक्त, अतिरिक्त उपायुक्त, जिला शिक्षा अधिकारी, खंड शिक्षा अधिकारी व निजी स्कूलों में प्रदर्शन करते हुए दाखिले की मांग कर चुके हैं, लेकिन बच्चों को आज तक दाखिला नहीं मिल पाए। अधिकारी निजी स्कूलों के खिलाफ कार्रवाई की बात तो कह रहे हैें, लेकिन आज तक मनमानी करने वाले एक भी निजी स्कूलों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई।

निजी स्कूलों को जारी किए नोटिस

  • नियम 134ए के तहत पात्र विद्यार्थियों को दाखिला देने में आनाकानी करने वाले निजी स्कूलों को नोटिस जारी कर दिए गए हैं। साथ ही सभी स्कूलों दाखिला सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं। जो स्कूल नियमों की अवहेलना करेगा, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। - प्रोमिला भारद्वाज, डीईओ, सोनीपत।
खबरें और भी हैं...