11 अक्टूबर को बदमाशों ने दिया था वारदात को अंजाम:कैशियर और सुपरवाइजर से रुपए लूटने वाले आरोपी काबू

राई2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

धतूरी के पास 11 अक्टूबर को फैक्ट्री के कैशियर व सुपरवाइजर की बाइक को टक्कर मारकर बदमाश पिस्तौल दिखाकर साढ़े चार लाख रुपए की नकदी लूट ले गए थे। इस मामले में सीआईए -2 के एएसआई संदीप की टीम ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने तीनों आरोपियों को कोर्ट में पेश कर चार दिन के रिमांड पर लिया है। यूपी के जिला प्रयागराज के गांव रसार निवासी अरुण तिवारी ने मुरथल थाना पुलिस को बताया था कि वह धतूरी स्थित जयशाल सल्फर कंपनी में कैशियर है। वह अपने दो साथियों प्रवीण तिवारी और विकास शुक्ला के साथ बैंक से कर्मियों के वेतन के लिए रुपए निकालने गए थे। वह भिगान के एचडीएफसी बैंक से साढ़े चार लाख रुपए लेकर आ रहे थे। प्रवीण तिवारी व विकास शुक्ला की बाइक आगे चल रही थी और अरुण तिवारी की उनके पीछे थे। जब वह धूतरी रोड पर पहुंचे तो एक बाइक पर दो युवक आए और उनके सुपरवाइजर प्रवीण की बाइक में टक्कर मार दी। इसी दौरान एक बिना नंबर की बाइक पर उनके साथी और आ गए। उन चारों युवकों ने कैशियर व सुपरवाइजर के साथ मारपीट शुरू कर दी। इसी दौरान एक युवक ने कनपटी पर पिस्तौल अड़ा दी। उसने गोली मारने की धमकी देकर वह बैग छीनकर भाग गए थे। बैग में साढ़े चार लाख रुपए, बैंक के चार एटीएम कार्ड, एडवांस सेलरी रजिस्टर और कागजात थे। उसके बाद प्रवीण का बैग छीन लिया। उसमें ढाई हजार रुपये और बैंक के कागजात थे। इस संदर्भ में सीआईए-2 के एएसआई संदीप की टीम ने जैनपुर गांव निवासी अतुल उर्फ काला, दीपक व सोनू को गिरफ्तार कर लिया है।

खबरें और भी हैं...