CBI के सिपाही पर सोनीपत में केस दर्ज:एजेंसी ने घर पर मारा था छापा, पुलिस का जाली आईकार्ड मिलने के मामले में कार्रवाई

सोनीपत2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतिकात्मक फोटो - Dainik Bhaskar
प्रतिकात्मक फोटो

हरियाणा के सोनीपत में शहर थाना पुलिस ने CBI के एक सिपाही के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। भ्रष्टाचार के मामले में सीबीआई ने अपने ही कर्मी के घर सेक्टर-23 में छापा मारा था। इस दौरान घर से हरियाणा पुलिस का फर्जी पहचान पत्र और कुछ कागजात बरामद हुए थे। सीबीआई के एसपी ने मामला दर्ज कराया है।

381 गुणा ज्यादा संपत्ति मिली थी

बताया गया है कि सेक्टर-23 सोनीपत निवासी सुभाषचंद्र सीआरपीएफ में था। बाद में प्रतिनियुक्ति पर उसे सीबीआई में सिपाही लगाया गया था। बाद में उस पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे तो सीबीआई ने छानबीन शुरू की। CBI ने बाद में उसके घर पर छापा मारा था।

सीबीआई को शिकायत मिली थी कि वर्ष 2012 से 2017 के बीच सुभाषचंद्र ने आय से करीब 381 फीसदी ज्यादा संपत्ति अर्जित की। छानबीन में आरोप साबित हुए तो उसके खिलाफ मामला दर्ज किया गया था। घर से हरियाणा पुलिस का फर्जी पहचान पत्र, आय-व्यय व निवेश से संबंधित कुछ कागजात मिले थे।

सुभाषचंद्र वर्ष 1991 में सीआरपीएफ में नियुक्त हुआ था। उसके बाद अलग-अलग जगह नियुक्त रहा। वह कई साल से सीबीआई में है। उसे वर्ष 2004 में सीबीआई में स्थायी रुप से शामिल किया गया था। पुलिस के फर्जी पहचान पत्र पर हरियाणा पुलिस के आईपीएस अधिकारी के.साल्वराज के हस्ताक्षर है। वह भी जाली पाया गया है।

दिल्ली में सीबीआई के एसपी सुधांशु धर मिश्रा ने एसपी सोनीपत को पत्र भेजा है कि सीबीआई में नियुक्त सिपाही सुभाषचंद्र के खिलाफ मामला दर्ज किया जाए। सोनीपत सिटी थाना पुलिस ने धारा 420, 467, 468 और 471 के तहत केस दर्ज किया है।

इंस्पेक्टर सवित कुमार ने बताया कि अभी पुलिस को पहचान पत्र की प्रति नहीं मिली है। मामले की जांच कर ठोस कार्रवाई की जाएगी। आरोपी सिपाही पहले ही आय से अधिक संपत्ति रखने के मामले में नामजद है।