सख्ती से राहत:आबोहवा सुधरी, एक्यूआई 158, ऑरेंज के बाद अब येलो पर आई

सोनीपत2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 436 वाहनों का चालान से ‌1.27 करोड़ रुपए जुर्माना वसूला, दोबारा पकड़े जाने पर इन सभी पर 10 गुना जुर्माना लगाने की चेतावनी जारी

रेड के बाद ऑरेंज और अब जिले की आबोहवा येलो पर आ गई है। यानि अब कुछ राहत की सांस मिलेगी। मंगलवार को एयर क्वालिटी इंडेक्स 2.5 का स्तर 158 रहा। तीन दिन पहले यह 283 और पांच दिन पहले 323 पर था। एनसीआर में एनजीटी ने प्रदूषण की संभावित सभी यूनिट और स्थानों सहित कार्यों पर ब्रेक लगाया हुआ है।

प्रदूषण कंट्रोल के लिए क्षेत्रीय परिवहन निदेशालय की टीम ने 25 दिनों में जिलेभर में 39 ओवरडेट वाहनों को इम्पाउंड किया है। साथ ही 400 से अधिक ओवरलोड और प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों का चालान किया गया है। बिल्डिंग मेटेरियल ढोने वाले वाहनों का चालान करने के बाद इन तिरपाल डलवाने के बाद छोड़ा गया। चेतावनी दी गई कि अगर भविष्य में यह इस तरह से पाए जाते हैं तो इन सभी पर 10 गुना अधक जुर्माना किया जाएगा। कार्रवाई के लिए जिलेभर में डीसी के निर्देश पर आरटीए द्वारा 14 टीमाें का गठन किया गया है। जो नियमित रूप से छापामार कार्रवाई कर रही है। संदिग्ध स्थानों पर ओवरलोड वाहनों की चेकिंग नाका लगाकर की जा रही है।

चार नवंबर को दीवाली के दो दिन पहले से जिले में प्रदूषण के स्तर में बढ़ोतरी हुई है। अब धीरे-धीरे यह काबू आ रहा है तो सरकार और जिला प्रशासन ने भी लोगों को छूट देना आरंभ कर दिया है। लेकिन प्रदूषण के लिए बनाए गए नियमों में अब कोई ढील नहीं देने की दिशा में कार्य लगातार किया जाएगा। जिसके तहत ओवरडेट वाहनों को रोड पर नहीं चलने दिया जाएगा। जिसमें 15 साल पुराने पेट्रोल और 10 साल पुराने डीजल वाहन शामिल है।

टीम ने 38 ओवरडेट वाहन को किया इम्पाउंड

आरटीए की गठित टीम पूरे जिले में ओवरडेट वाहनों पर कार्रवाई कर रही है। जिसके तहत जिलेभर में 14 टीमों का गठन किया गया है। टीम द्वारा जिले भर में कार्रवाई करते हुए 10 साल पुराने डीजल के 38 वाहनों को इंपाउंड किया गया है। इसके अलावा एक 15 साल पुरानी सैंट्रो भी टीम ने इम्पाउंड किया है। विभाग द्वारा पोर्टल से गाड़ियों की डिटेल निकाली जा रही है। जिसके अनुसार भी रोड पर चकिंग अभियान चलाया जाएगा। हालांकि बड़ी संख्या में ओवरडेट वाहनों की लोग एनओसी लेकर दूसरे स्टेट में जा चुके हैं।

ओवरलोड वाहन चालकों पर एक करोड़ 27 लाख रुपए का जुर्माना किया

आरटीए की टीम द्वारा प्रदूषण फेलाने वाले वाहनों के साथ-साथ ओवरलोडिंग पर भी कार्रवाई की जा रही है। जिसके तहत 25 दिनों में जिलेभर में गठित टीमों ने करीब 403 ओवरलोड वाहनों को चालान किया है। जिन पर विभाग द्वारा एक करोड़ 27 लाख रुपए का जुर्माना किया गया है। अधिकतर ओवरलोड वाहन जीटी रोड, खरखौदा, रार्ठ-नाहरा-बहादुरगढ़ सहित गोहाना आदि के एनएच से होकर गुजरते हैं। जिसकनी जांच के बाद पकड़ में आ रहे हैं।

बिल्डिंग मेटेरियल वाली गाड़ियां फैला रही प्रदूषण

आरटीए की जांच टीम ने छापामार कार्रवाई में 14 प्वाइंटों से 64 बिल्डिंग मेटेरियल ढोने वाले आवेरलोड वाहनों को पकड़ा है। जिनसे बड़ी मात्रा में प्रदूषण फैला रहा था। यह बगैर मेटेरियल को ढंके ही लाने ले जाने का कार्य कर रहे हैं। इनका चालान करते हुए चेताया गया कि अगर भविष्य में पकड़े जाते हैं तो इन सभी पर 10 गुना जुर्माना किया जाएगा। इन वाहनों को छोड़ने से पहले टीम द्वारा सभी वाहनों पर तिरपाल लगाकर इन्हें ढंका गया।​​​​​​​

लगातार की जा रही छापामार कार्रवाई

आरटीए द्वारा प्रदूषण को रोकने के लिए लगातार वाहनों की चैकिंग का कार्य किया जा रहा है। जिलेभर में टीमों का गठन किया गया है। इन 25 दिनों की कार्रवाई में सैकड़ों का चालान किया गया है। जिससे एक करोड़ 27 लाख रुपए का जुर्माना किया गया है। इन सभी को चेताया गया कि भविष्य में इस तरह से पकड़े जाएंगे तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी। -राजेश मलिक, इंसपेक्टर आरटीए सोनीपत।​​​​​​​

खबरें और भी हैं...