• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Sonipat
  • Totally Less Passengers Came Due To People Not Knowing About The Running Of The Train, 100 Passengers Traveled On The First Day

19 महीने बाद जींद-गोहाना-सोनीपत दैनिक रेल शुरू:पूरी तरह से अभी लोगों को ट्रेन चलने की जानकारी नहीं होने से कम आए यात्री, पहले दिन 100 यात्रियों ने किया सफर

सोनीपत/गोहाना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गोहाना. गोहाना जंक्शन पर सोनीपत जाने के लिए ट्रेन में चढ़ते यात्री। - Dainik Bhaskar
गोहाना. गोहाना जंक्शन पर सोनीपत जाने के लिए ट्रेन में चढ़ते यात्री।
  • , लंबे समय से यात्री कर रहे थे ट्रेन के परिचालन की मांग

लंबे समय से सोनीपत-गोहाना-जींद रेल लाइन पर बंद ट्रेन के परिचालन की मांग यात्री कर रहे थे। यह ट्रेन कोरोना वायरस संक्रमण के बाद 24 मार्च-2020 से बंद कर दी गई थी। सोमवार को सोनीपत-गोहाना-जींद रेल मार्ग पर एक बार फिर से ट्रेन को चलाया गया। जींद से सोनीपत वाया गोहाना चली इस ट्रेन में करीब 100 यात्री सवार होकर पहले दिन सोनीपत पहुंचे। यह ट्रेन अपने निश्चित समय से पांच मिनट की देरी से प्लेटफार्म नंबर पांच पर लगाई गई। जिसे देखने लिए काफी संख्या में लोग स्टेशन पर पहुंचे। सोमवार को सोनीपत रेलवे स्टेशन से जींद और गोहाना के लिए 35 टिकटों की बिक्री हुई है। रेलवे के अधिकारियों का कहना है कि अभी लोगों को पूरी तरह जानकारी नहीं है। जिसकी वजह से पहले दिन सवारियां कम आई है। एक सप्ताह के भीतर पूरी तरह से भरकर चलने की आशा जताई जा रही है। इस रूट पर तीन ट्रेन का परिचालन किया जाता था, फिलहाल एक ट्रेन ही चलाई जा रही है। साेनीपत-गोहाना-जींद रेल के चलने से यात्रियों ने काफी राहत महसूस की है। दैनिक यात्री नीरज, सुनील, रमेश, लखविंदर आदि ने बताया कि ट्रेन का परिचालन बंद होने से इन लोगों को आवागमन के लिए ज्यादा धन खर्च करना पड़ रहा था। इसके अतिरिक्त आवागमन में समय भी ज्यादा लग रहा था। जिसके लिए रेलवे को चलाने की मांग की जा रही थी। रेल के चलने से इस सर्दी में लोगों को राहत मिलेगी। अन्यथा लोग बाइक और टैंपो में सवार होकर आवागमन करते हैं।

इस रूट पर ट्रेन का संचालन था पूरी तरह बंद

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा देश में 24 मार्च से संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की गई थी। जिसके साथ ही देश भर में ट्रेन का परिचालन पूरी तरह से रोक दिया गया था। इसमें सोनीपत-गोहाना-जींद रेल लाइन भी शामिल है। तब से अब तक इस रूट पर ट्रेन का परिचालन पूरी तरह से बंद था। जिसे यात्रियों की लगातार डिमांड पर सोमवार से रेलवे चलाना शुरू किया है। सोमवार को 19 महीना 13 दिन बाद सोनीपत-गोहाना-जींद रेल लाइन पर ट्रेन का परिचालन शुरू किया गया है।

जींद से सुबह 10:30 बजे अागमन, साेनीपत से 1:35 बजे हुई वापसी

जींद से यह रेलगाड़ी सुबह 10:30 बजे प्रस्‍थान कर दोपहर 12:40 बजे सोनीपत पहुंची। वापसी दिशा में सोनीपत से यह रेलगाड़ी 01:35 बजे प्रस्थान कर शाम 4 बजे जींद पहुंची। रूट पर रेलगाडी जींद सिटी, पांडु पिंडारा, ललात खेडा, बामहनी, ईशापुर खीरी, बुटाना, खंडराई, गोहाना, रभड़ा, लठ, मोहाना और बडवासनी स्‍टेशनों पर दोनों दिशाओं में ठहरेगी। ़ा, लठ, मोहाना और बडवासनी स्‍टेशनों पर दोनों दिशाओं में ठहरेगी।

गोहाना के लिए 10 की जगह देने होंगे 30 रुपए​​​​​​​

पहले दिन ट्रेन गोहाना जंक्शन पर 9 मिनट की देरी से पहुंची। ट्रेन शुरू होने से यात्रियों को राहत तो मिली है, लेकिन सोनीपत जाने के लिए यात्रियों को अपनी जेब ढीली करनी पड़ेगी। सोनीपत का 3 गुना तक किराया बढ़ा दिया है। पहले यात्रियों को ₹10 किराया देना होता था, अब सोनीपत के लिए ₹30 खर्च करने होंगे। रेलवे ने 2 वर्ष बाद जींद से सोनीपत के लिए दिन भर में 3 ट्रेनें चलती है। सोमवार को ट्रेनों का संचालन किराए में 3 गुना बढ़ोतरी के साथ किया गया। अधिकारियों को स्टेशन पर यात्रियों की भीड़ अधिक होने की उम्मीदें थी। लेकिन पहले दिन भर में जंक्शन से केवल 40 यात्रियों ने ही ट्रेन में सफर किया। ट्रेन के चलने से शहर के व्यापारियों को फायदा होगा। सोनीपत से दिल्ली के लिए आसानी से ट्रेन मिल जाती है। ट्रेन नहीं चलने पर व्यापारियों को दिल्ली जाने के लिए बसों पर निर्भर रहना पड़ता था। एसएस बलराम मीणा ने बताया कि जींद से सोनीपत के लिए ट्रेन का संचालन शुरू हो गया है। मुख्यालय ने किराए में वृद्धि की है। यात्रियों की सुविधा के लिए ट्रेन प्रत्येक निर्धारित स्टॉपेज पर रुकेगी।

खबरें और भी हैं...