फतेहाबाद-हिसार में गिरे ओले, कई जगह बरसात:हरियाणा में बदला मौसम; अगले कई घंटों में अंधड़ के साथ बूंदाबांदी की संभावना

सोनीपत/फतेहाबादएक महीने पहले

हरियाणा में शनिवार को मौसम का मिजाज एक बार फिर बदल गया। कई जिलों में जहां बूंदाबांदी का दौर चला, वहीं फतेहाबाद के भूथन कलां और हिसार के अग्रोहा खंड के गांव कुलेरी में जमकर ओले गिरे। पूरे प्रदेश में सुबह से ही आसमान में बादल विचर रहे हैं और इस वजह से तापमान में गिरावट आई तथा लोगों को गर्मी से राहत मिली।

बारिश व कहीं-कहीं ओलावृष्टि होने से माैसम ठंडा हो गया है। पश्चिमी विक्षोभ के आंशिक प्रभाव के कारण हिसार शहर में 8.4 एमएम बारिश दर्ज की गई। शहर का अधिकतम तापमान शनिवार काे 41.6 डिग्री सेल्सियस रहा, जबकि न्यूनतम तापमान 27.0 डिग्री सेल्सियस रिकाॅर्ड किया गया। हालांकि रात का तापमान सामान्य से 1 डिग्री सेल्सियस अधिक रहा।

फतेहाबाद में ओले गिरने से धरती सफेद हो गई।
फतेहाबाद में ओले गिरने से धरती सफेद हो गई।

इस बीच शनिवार को हरियाणा में फरीदाबाद सबसे ज्यादा गर्म रहा। यहां बोपनी में पारा 45.1 डिग्री दर्ज किया गया। हिसार में एक दिन पहले जहां पारा 47.5 डिग्री पर था, वहीं शनिवार यहां बालसमंद में 41 डिग्री के आसपास रहा। हिसार के उत्तरी क्षेत्र में आंधी के साथ बूंदाबांदी भी दर्ज की गई। अगले कई घंटों में प्रदेश के कई अन्य इलाकों में भी अंधड़ और बरसात की संभावना मौसम विभाग ने जताई है।

पश्चिमी विक्षोभ और हरियाणा पर बने साइक्लोनिक सर्कुलेशन के प्रभाव से हरियाणा में आसमान बादलों से घिरा हुआ है। कई जिलों में बादल गरजने के साथ बरस भी रहे हैं। शाम 3 बजे के करीब फतेहाबाद, हिसार के कुछ क्षेत्र, पानीपत और कैथल के कुछ क्षेत्रों में बूंदाबांदी शुरू हो गई। इस बीच फतेहाबाद के गांव भूथन कलां में तो बरसात के साथ बड़े साइज के ओले भी गिरे। ओले से सब्जी व अन्य फसलों को नुकसान पहुंचा है।

आंधी के साथ बरसात की संभावना

लाइव वैदर ऑफ इंडिया के नवदीप दहिया ने बताया कि अगले कुछ घंटों में हरियाणा के अधिकतर जिलों में आंधी और बरसात की संभावना बनी हुई है। हिसार, फतेहाबाद, भिवानी, चरखी दादरी, महेंद्रगढ़, रोहतक, रेवाड़ी, झज्जर, जींद, कैथल, कुरुक्षेत्र, करनाल, अंबाला, यमुनानगर, पंचकूला, चंडीगढ़, पानीपत, सोनीपत, गुड़गांव, फरीदाबाद, नुह, पलवल सहित राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के 50 से 75% हिस्सों में धूल भरी आंधी चलने की संभावना है। हवा की रफ्तार 40 से 90 किलोमीटर प्रति घंटा तक रहेगी। इस दौरान 25 से 50% हिस्सों में कम समय के लिए तेज़ बारिश भी संभव है। बादलों की गरज चमक देखने को मिलेगी।

मौसम बदलने के बाद हरियाणा के अधिकतर जिलों में धूल भरी आंधी चली।
मौसम बदलने के बाद हरियाणा के अधिकतर जिलों में धूल भरी आंधी चली।

फतेहाबाद में बरसात के साथ ओले

हरियाणा के फतेहाबाद के भूना और रतिया के कुछ गांवों भूथन, नाढोड़ी, धांगड़ सहित आसपास के गांवों में ओलावृष्टि हुई। आज दोपहर करीब 2 बजे अचानक आसमान काले बादलों और धूल भरी आंधी से घिर गया। तेज हवाओं के साथ ग्रामीण क्षेत्र में बरसात शुरू हो गई। शहर में हालांकि तेज हवाओं और अंधड़ ने परेशान जरूर किया, लेकिन तापमान में कमी देखने को मिली।

अगले 3 दिन ऐसा रहेगा मौसम

हरियाणा में शुक्रवार को लोगों ने दिन भर भयंकर गर्मी झेली थी। हिसार में जहां दिन का पारा 47.5 डिग्री दर्ज किया गया, वहीं शाम को साढ़े 7 बजे पारा 44 डिग्री से अधिक रहा। कई जिलों में शाम को भी लोगों ने लू का सामना करना पड़ा। शनिवार सुबह से ही मौसम खराब हो गया था। अब 22 मई को सुबह एक और पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होगा। इसके असर से 23 व 24 मई को प्रदेश के ज्यादातर जिलों में धूलभरी हवाओं के साथ-साथ बारिश आने की संभावना है। इससे दिन के तापमान में 5 डिग्री से ज्यादा की गिरावट आएगी, जिससे लोगों को गर्मी से काफी राहत मिलेगी।

फतेहाबाद में रतिया इलाके में अच्छी बरसात हुई है।
फतेहाबाद में रतिया इलाके में अच्छी बरसात हुई है।

पानीपत में भी बूंदाबादी

पानीपत में दिन भर आसमान पर बादल छाए रहे। सूर्य देव खुल कर नहीं चमक पाए, जिस कारण तापमान में गिरावट दर्ज की गई। दोपहर बाद4 बजे के करीब यहां तेज हवा के साथ बूंदाबांदी का दोर चला। बरसात हालांकि ज्यादा तेज नहीं थी, लेकिन रोड पर चल रहे लोगों को भिगोने वाली जरूर रही। बरसात के बाद ठंडी हवा के झोंके लोगों को गर्मी से राहत दिलाते रहे।

सोनीपत में धुंधला रहा आसमान

सोनीपत में रात को मौसम बल गया था। शुक्रवार शाम को जहां तेज आंधी के साथ कुछ देर तक बूंदाबांदी हुई, वहीं रात को दो बजे के करीब आंधी के साथ खूब बिजली चमकी और बादल चमके। सुबह से ही सोनीपत, गोहाना और गन्नौर में आसमान में बादल छाए हैं। अंधड़ या बरसात तो यहां नहीं हुई, लेकिन तापमान में गिरावट आने से लोगों को गर्मी से राहत जरूर मिली है। सोनीपत में दिन के वक्त पारा 44 डिग्री पर पहुंचा, लेकिन इसके बाद गिर कर 39 डिग्री पर आ गया।

हिसार के अग्रोहा खंड के गांव कुलेरी में भयंकर ओलावृष्टि हुई।
हिसार के अग्रोहा खंड के गांव कुलेरी में भयंकर ओलावृष्टि हुई।

कृषि विवि ने जारी किया बुलेटिन

हिसार के चौधरी चरणसिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के कृषि मौसम विज्ञान विभाग के अध्यक्ष डॉ मदन खीचड़ ने बताया कि सांय 5.20 जारी बुलेटिन के अनुसार अगले तीन घण्टों के दौरान कई जिलों में बूंदाबांदी और अंधड़ की संभावना जताई है। उन्होंने बताया कि फतेहाबाद, सिरसा, कैथल, हिसार,जींद,चरखीदादरी भिवानी,रोहतक, सोनीपत, पानीपत, करनाल जिलों व आसपास के क्षेत्रों में कहीं-कहीं धूलभरी तेज हवाएं चलने व कुछ एक स्थानों पर गरजचमक के साथ बूंदाबांदी व हल्की बारिश की संभावना है।

रेवाड़ी में भी गिरा पारा

मौसम में बदलाव के बाद तापमान में भी 3 से 4 डिग्री तक की गिरावट दर्ज हुई है। शनिवार को सुबह होते ही हल्की बूंदाबांदी के साथ फिर धूल भरी आंधी चली। हालांकि 10 बजे के बाद आसमान में हल्की धूप भी दिखी। अब आसमान में कभी धूप तो कभी बादल नजर आ रहे है। मौसम में हुए बदलाव के बाद तापमान में हुई गिरावट से लोगों को कुछ हद तक गर्मी से राहत मिली है।