मोनू खान हत्याकांड:3 हत्यारोपी 5 दिन बाद गिरफ्तार, हरिद्वार में छिपाकर आए थे हथियार

यमुनानगर19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस की गिरफ्त में मोनू खान की हत्या के आरोपी। - Dainik Bhaskar
पुलिस की गिरफ्त में मोनू खान की हत्या के आरोपी।

जगाधरी के मनोहर कॉलोनी निवासी माेनू खान की हत्या को अंजाम देने के आरोपी पांच दिन बाद पुलिस के हत्थे चढ़ गए। हत्या के बाद आरोपी हरिद्वार गए। पुलिस के अनुसार वहां पर आरोपियों ने वे हथियार छिपाए, जिनसे हत्या की। पुलिस अब उन्हें बरामद करेगी। पुलिस ने गिरफ्तार मनोहर कॉलोनी निवासी सचिन, शिवा और डेहा बस्ती प्रेम कॉलोनी निवासी हरीश उर्फ बजरंगी को कोर्ट में पेश किया।

जहां से उन्हें दो दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया है। शहर जगाधरी थाना प्रभारी नसीब सिंह ने बताया कि आरोपियों को रिमांड पर लेकर गहनता से पूछताछ की जा रही है। जिन हथियारों से हत्या की गई उन्हें बरामद किया जाएगा। वहीं अन्य साक्ष्यों काे भी पुलिस जुटाएगी।

मौत से पहले माेनू ने दिए थे बयान, मौत के बाद केस में धारा 302 जोड़ी
मरने से पहले मनोहर कॉलोनी निवासी मोनू खान ने पुलिस को बयान दिए थे कि कि उसके दोस्त हरविंद्र उर्फ कन्नू के साथ कुछ दिन पहले शिवा, सचिन और अन्य ने चोटें मारी थी। जिस वजह से उनके साथ कन्नू की रंजिश चल रही थी। कॉलाेनी निवासी कन्हैया लाल उर्फ विक्रम बाबा उसे कहने लगा कि दोनों पक्षों का वह आपस में समझौता करा दे। इसी के चलते 11 सितंबर को रात 10 बजकर 35 मिनट पर वह अपने दोस्त गंगा नगर निवासी चेतन को साथ लेकर शिवा और सचिन के घर के पास मनोहर कॉलाेनी में ही गया था।

वहां कन्हैया लाल उर्फ विक्रम की शह पर शिवा, सचिन, बजरंगी ने लोहे की रॉड और नुकीली रॉड से उन पर हमला कर दिया। चेतन डर कर मौके से भाग गया। तीनों आरोपियों ने उसे काफी देर तक रॉड से पीटा। उसके सिर में नुकीली रॉड से वार किए। लोेगों को आता देखकर आरोपी फरार हो गए। पुलिस ने इस बयान पर धारा-323, 325, 307 और 34 में केस दर्ज किया। परिवार के लोग मोनू को अस्पताल लेकर गए। वहां से पीजीआई रेफर कर दिया। जहां उसने दम तोड़ दिया। पुलिस ने केस में धारा-302 जोड़ दी थी।

जगाधरी में गैंगवार नहीं रुक रही, अब तक 7 की हत्या
मोनू खान की हत्या गैंगवार में हुई। मोनू पर हत्या समेत मारपीट, देसी कट्टा रखने के आधा दर्जन केस थे। हालांकि हत्या के केस में वह बरी हो चुका था। वहीं जिन तीन आरोपियों को पुलिस ने मोनू खान की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है, उन पर भी मारपीट के केस दर्ज हैं। जगाधरी में अलाउद्दीन गैंग के साथ माेनू खान के लोगों का विवाद चल रहा था। यह विवाद अवैध शराब के धंधे को लेकर बताया जाता है। दोनों के बीच चल रही गैंगवार में अब तक सात हत्याएं हो चुकी हैं। कई युवकों को एक दूसरी गैंग के लोग टांगें बाजू तोड़कर अपाहिज बना चुके हैं।

खबरें और भी हैं...