• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Yamunanagar
  • DEEO Will Be Able To Cancel The Recognition Of The School If The Admission Is Not Given, The Notification Issued By The Additional Chief Secretary

नहीं चलेगी निजी स्कूलों की मनमानी:दाखिला न देने पर स्कूल की मान्यता कैंसिल कर सकेंगे डीईईओ, एडिशनल चीफ सेक्रेटरी ने जारी की अधिसूचना

यमुनानगर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

आरटीई (शिक्षा का अधिकार अधिनियम) में निजी स्कूलों में पहली कक्षा तक होने वाले दाखिले को लेकर स्कूल प्रबंधन मनमानी नहीं कर सकेंगे। शिकायत पर त्वरित कार्रवाई करने के आदेश मौलिक शिक्षा निदेशालय से जारी हुए हैं। आरटीई में संशोधन करते हुए जिला स्तर कार्रवाई की पावर डीईईओ को भी दी गई है। इसे लेकर अधिसूचना शिक्षा विभाग के एडिशनल चीफ सेक्रेटरी डॉ. महावीर सिंह ने जारी की है।

शुक्रवार शाम को सभी जिलों के डीईओ, डीईईओ को संशोधन आदेशाें की प्रति भेजी गई है। मौलिक शिक्षा निदेशालय के अनुसार जिस भी स्कूल की शिकायत मिलेगी। डीईईओ जांच के लिए अपने स्तर पर कमेटी का गठन करेंगे। कमेटी स्कूल में जाकर जांच करेगी। जांच रिपोर्ट मिलने के बाद उसे डीईईओ अच्छे से पढ़ेंगे। स्कूल के एडमिशन के लिए निर्देश देंगे। दो बार निर्देश देने और औपचारिकता पूरी होने पर भी एडमिशन नहीं देने पर अपने स्तर मान्यता कैंसिल करने का फैसला ले सकते हैं। इस कार्रवाई के बारे मुख्यालय रिपोर्ट भी सबमिट करेंगे। आदेशों में बताया गया है कि जांच में आरोप सही पाए जाने पर डीईईओ मान्यता को रद्द कर सकते हैं। इसके साथ ही एक लाख रुपए का जुर्माना लगा सकते हैं। ये राशि बढ़ाई भी जा सकती है।

शिकायत पर नहीं हुई कार्रवाई

अभिभावक सतनाम सिंह, विजय कुमार व प्रदुमन ने बताया कि उनकी ओर से स्कूल में एडमिशन के लिए आवेदन किया था। उनकी ओर से मांगे गए सभी दस्तावेज लगाए गए थे। उसके बाद भी उनके बच्चों का फार्म रिजेक्ट कर दिया गया। उन्हें रिजेक्ट की वजह नहीं बताई। इसलिए उनकी ओर से शिकायत दर्ज कराई गई। शिकायत पर कार्रवाई नहीं हुई। अधिकारियों ने बताया कि कार्रवाई जिला से मुख्यालय से होती है। अब उन्हें लग रहा है कि सरकार के इस फैसले से स्कूलों की मनमानी पर रोक लगेगी।

अभी 226 को मिल पाया एडमिशन सरकार की ओर से निजी स्कूलों में कक्षा पहली तक एडमिशन के लिए 25 प्रतिशत सीट रिजर्व रखने के आदेश जारी हुए। इसके बाद एडमिशन के लिए जिले के 367 निजी स्कूलों में एक हजार के करीब आवेदन किए गए। इनमें से 226 के करीब विद्यार्थियों काे एडमिशन मिल पाया है। स्कूलों की ओर से ब्लॉक वाइज अपने हुए एडमिशन की जानकारी शिक्षा विभाग काे देनी थी। सभी की ओर से बीईओ काे सूचना नहीं दी गई। स्कूल पहली तक होने वाले एडमिशन में भी पूरी तरह मनमानी कर रहे हैं। जिसका खामियाजा अभिभावकों को भुगतना पड़ रहा है।

खबरें और भी हैं...