यमुना में बहे 5 युवकों में 3 का शव मिला:NDRF का रेस्क्यू ऑपरेशन जारी; 24 घंटे बाद घटनास्थल पर पहुंचे DC

यमुनानगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा के यमुनानगर में बूडिया थाना के पास गैंगवार के चलते पश्चिमी यमुना नहर में छलांग लगाने वाले 5 युवकों में से 3 के शव NDRF टीम ने बरामद कर लिया है। इसके साथ डूबे 2 अन्य युवकों की तलाश के लिए मंगलवार सुबह फिर से यमुना में सर्च अभियान चलाया जाएगा। डीएसपी प्रमोद कुमार ने बताया कि 2 युवकों का सुराग नहीं लगा है। उनकी खोज में यमुना में पांच किलोमीटर के एरिया में सर्च किया जा रहा है।

यमुना में चल रहे रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान सोमवार दोपहर तक निखिल और साहिल के शव बरामद कर लिए गए हैं। शाम को एक और युवक का शव मिला। अभी 2 अन्य की तलाश जारी है। अंधेरा होने के बाद सर्च अभियान बंद किया गया। मंगलवार सुबह फिर से यमुना में युवकों की तलाश की जाएगी। इस बीच पुलिस ने वारदात को लेकर लुका गैंग के 11 नामजद बदमाशों समेत 20 के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर उनकी धरपकड़ के प्रयास तेज कर दिए हैं। जिन परिवारों के युवक नहर में बहे हैं, वे भी सुबह से ही नहर पर टकटकी लगाए बैठे हैं।

इसी बीच यमुनानगर के डीसी पार्थ गुप्ता के साथ वरिष्ठ अधिकारियों ने घटनास्थल का दौरा किया। वे वारदात के 24 घंटे बाद मौके पर पहुंचे हैं। DC ने बताया कि अभी विभिन्न टीमें बाकी 3 युवाओं की खोजबीन में लगी हुई है। उम्मीद है जल्दी इसमें सफलता मिलेगी।

नहर में बहे साहिल, सुलेमान, निखिल और अलाउदीन के फाइल फोटो।
नहर में बहे साहिल, सुलेमान, निखिल और अलाउदीन के फाइल फोटो।

ये था मामला

यमुनानगर में रविवार को शांति कालोनी निवासी सुलेमान, अलाउदीन, साहिल, निखिल, सन्नी अमन कुमार, साहिल उर्फ डेढ़ा, ईशु, दीपक व शौकीन जगाधरी की अनाज मंडी में आयोजित CM मनोहर लाल की विकास रैली में गए थे। वापस लौटते समय वे पश्चिमी यमुना नहर के बूडिया घाट पर नहाने के लिए चले गए। इसी बीच 20-25 मोटरसाइकिल पर सवार होकर 30 से अधिक युवक मौके पर पहुंच गए। दोनों गैंग आमने सामने आए और मारपीट व हंगामा शुरू हो गया।

यमुना में बहे युवकों की तलाश करते NDRF की टीम के सदस्य।
यमुना में बहे युवकों की तलाश करते NDRF की टीम के सदस्य।

बरसाए पत्थर, गोली मारने की दी धमकी

इस बीच अलाउदीन, सुलेमान, साहिल, गंगानगर कॉलोनी निवासी सन्नी व निखिल उर्फ निक्की, साहिल, रवि, इशु, सनी, शौकीन ने हमलावरों से बचने के लिए यमुना में छलांग लगा दी। साहिल, रवि, इशु, सनी, शौकीन तो किसी तरह निकल आए, लेकिन शेष पांच युवक पानी के तेज बहाव में बह गए। हमलावरों ने यमुना में कूदे युवकों पर पत्थर बरसाए और गोली मारने की धमकी दी। हमले की वजह से वे बाहर नहीं निकल सके।

लुका गैंग पर आरोप

दूसरी गैंग के हमले में घायल दीपक ने बताया कि उन पर हमला लुका गैंग ने किया था। भरतु, गौरव उर्फ गोरू, मनी राणा, गौरव उर्फ महादेव, पव्वा, अजरू, लुक्का, गौरव, सनी उर्फ हरभजन, अमन राणा, संदीप व अन्य ने उसके साथियों को यमुना में कूदने पर मजबूर किया। उनकी पानी में डुबोकर हत्या कर दी। पुलिस ने मामले में 11 लोगों को नामजद करते हुए हत्या व हत्या के प्रयास का केस दर्ज किया है।

शराब-नशे पर झगड़ा, हो चुकी हत्या

नहर में डूबे अलाउदीन के पिता इम्तियाज की मार्च 2020 में हत्या कर दी गई थी। इस मामले में पुलिस ने लुका को भी गिरफ्तार किया था। इम्तियाज पक्ष के लोगों को 30 लाख रुपए देने के बाद समझौता हुआ था। इसके बाद लुका व कई अन्य 15 फरवरी को जमानत पर आए थे। अलाउदीन के परिवारवालों का कहना है कि लुका अब इम्तियाज के बच्चों की भी हत्या करना चाहता था। इसलिए कई बार हमला करने का प्रयास कर चुका है। बताया जा रहा है कि दोनों पक्षों में अवैध शराब बेचने व स्मैक बेचने को लेकर झगड़ा शुरू हुआ था।