नशा के खिलाफ जागरूकता अभियान:एसपी ने कहा ‘सही राह’ के तहत 500 युवा छोड़ चुके नशा, अब जिम्मेदारी उठाए संस्थाएं

यमुनानगरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिले में नशे की दलदल में कई युवा फंसे हुए थे। नशे की लत को पूरा करने के लिए परिवार के साथ भी मारपीट तक उतारू हो जाते थे। अपराध करने में तो जरा भी हिचकिचाते नहीं थे। नशे के खिलाफ पुलिस ने अक्टूबर 21 मेें अभियान शुरू किया। अब तक 500 युवा नशा छोड़ चुके हैं। अब आगे की मुहिम संस्थाएं खुद संभालें, जिससे उजड़ते परिवार बस सकें। उक्त बातें एसपी कमलदीप गोयल ने एनजीओ के पदाधिकारियों से कही। एसपी का यमुनानगर से तबादला पंचकूला किया गया है।

उनके वहां जॉइन करने से पहले रविवार को सर्व जागरूक संगठन के पदाधिकारियों ने उनसे मुलाकात की। इस दौरान उनके साथ नशे मुक्ति को लेकर चर्चा की गई। एसपी ने बताया कि जिले में इस मुहिम से बहुत से परिवारों को एक नई जिंदगी मिली है। इस मुहिम में 500 से अधिक युवाओं ने नशे को त्याग दिया है। कई युवा जो नशे में किसी कारणवश धंस जाते हैं। फिर उस नशे की पूर्ति के लिए कोई भी आपराधिक वारदात करने से नहीं हिचकिचाते। नशा मुक्त व अपराध मुक्त समाज की स्थापना के लिए हम सभी को मिलकर कदम उठाने होंगे। तभी यह मुहिम सार्थक होगी।

एसपी ने कहा कि जिला पुलिस ऑपरेशन सही राह के माध्यम से तस्करों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई कर रही है। लोगों में नशा के खिलाफ जागरूकता पैदा करने से लेकर इस अभियान की शत प्रतिशत सफलता के लिए जन सहयोग अति आवश्यक है। संस्था के पदाधिकारी लक्ष्य दत्ता, सत्यम, ममता सैन, संजीव व राहुल ने एसपी से मुलाकात की। उन्हें बताया कि सर्व जागरूक संगठन शुरू से ही जागरुकता अभियान चला रहा है।

खबरें और भी हैं...