बच्चे सड़क पर चलते समय टैबलेट का प्रयोग कर रहे:पढ़ने के लिए मिले टैबलेट को स्टूडेंट सड़क पर आते-जाते यूज कर रहे, आरटीए ने डीईओ को पत्र लिखा

यमुनानगर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले 10वीं और 12वीं के स्टूडेंट्स को सरकार ने बेहतर पढाई के लिए फ्री टैबलेट दिए हैं। जिन स्टूडेंट्स को टैबलेट दिए हैं, उसमें से कुछ उन्हें सड़क पर आते-जाते यूज कर रहे हैं। स्टूडेंट्स को सड़क पर टैबलेट को यूज करते हुए आरटीए सचिव ने देखा। इसके बाद उन्हाेंने डीईओ को पत्र लिखा। आरटीए सचिव डॉ. सुभाष चंद ने बताया कि सड़क पर चलते समय हमें सड़क पर ध्यान रखना चाहिए। चाहे पैदल चल रहे हों या फिर वाहन पर। उन्होंने देखा कि कई बच्चे सड़क पर चलते हुए टैबलेट का यूज कर रहे हैं, जिससे हादसा होने का डर रहता है।

इसे देखते हुए डीईओ को पत्र लिखा गया है, ताकि बच्चों को जागरूक किया जा सके कि वे टैबलेट को स्कूल या फिर घर में यूज करें। सड़क पर चलते समय उसे यूज न करें। आरटीए सचिव ने 10 मई को जिला शिक्षा अधिकारी को पत्र लिखा गया। लिखा कि हरियाणा सरकार की ओर से स्कूली बच्चों को टैबलेट दिए गए हैं। देखने में आया है कि बच्चे सड़क पर चलते समय टैबलेट का प्रयोग कर रहे हैं। जिस कारण सड़क पर उनके साथ कोई हादसा हो सकता है। अनुरोध है कि आप अपने अधीन सभी स्कूल प्रबंधकों, मुख्याध्यापक, अध्यापकों को दिशा निर्देश दें कि सभी बच्चों को इस बारे में जागरूक किया जाए कि वे सड़क पर चलते समय टैबलेट का प्रयोग न करें। इस पत्र की एक कॉपी डीसी को भी भेजी गई है।

बता दें कि पांच मई को हरियाणा सरकार की ओर से टैबलेट वितरण शुरू किया गया। यमुनानगर में करीब 18 हजार को टैबलेट दिए जाने हैं। अभी तक आठ हजार को टैबलेट दिए गए हैं। हालांकि फिलहाल ज्यादातर को दिए टैबलेट को एक्टिवेट नहीं किया गया। वहीं बहुत से स्टूडेंट्स के टैबलेट स्कूलों में ही रखे हैं। हरियाणा सरकार की योजना है कि स्टूडेंट्स बेहतर पढाई कर सकें, इसलिए उन्हें टेबलेट दिए गए हैं।

खबरें और भी हैं...