निर्माणाधीन नाला टूटा, घटिया सामग्री लगाने का आरोप:जगाधरी में बूड़िया गेट चौकी से बूड़िया चौक तक बन रहा नाला पूरा होने से पहले ही टूटने लगा है

यमुनानगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जगाधरी में बूड़िया गेट चौकी से बूड़िया चौक तक बन रहा नाला पूरा होने से पहले ही टूटने लगा है। इंद्रा कॉलोनी के पास रात को किसी वाहन के वजन से नाले की दीवार गिर गई। इसका पता सुबह चला तो लोगों ने कहा कि यह घटिया सामग्री की वजह से टूटा है। इसकी सूचना पार्षद देवेंद्र सिंह को दी। उन्होंने मौके पर अपने लोग भेजकर काम रुकवाया। ताकि सोमवार को नगर निगम के अधिकारियों को बुलाकर दिखाया जा सके कि यहां पर किस तरह का मेटीरियल लगाया गया है।

हालांकि पार्षद के काम रुकवाने के बाद भी इस पर कुछ मजदूर लीपापोती करते रहे। यह नाला जगाधरी के सबसे मेन रोड पर बन रहा है। यह एरिया शिक्षामंत्री कंवरपाल का है। इससे चंद मीटर की दूरी पर वह कॉलोनी है, जहां वे रहते हैं। उधर, नगर निगम के एमई ने कहा कि नाले की दीवार गिरने की सूचना मिली है। इसे ठीक कराया जाएगा। नाले का काम किन्हीं कारण से लेट हुआ है। उनका कहना है कि अभी 10 प्रतिशत काम ही बचा है। जिसे 15 दिन में पूरा कर दिया जाएगा। इस नाले पर करीब 47 लाख रुपए खर्च हो रहे हैं। पार्षद देवेंद्र सिंह ने बताया कि ये नाला तीन माह में बनना था, लेकिन एक साल बाद भी अधूरा है। नाले के निर्माण में लगाया जा रहा मेटीरियल घटिया क्वालिटी का है।

व इसे लेकर उन्होंने नगर निगम हाउस में मुद्दा उठाया था। लिखित शिकायत भी वे दे चुके हैं, लेकिन अधिकारी कोई एक्शन नहीं ले रहे। घटिया सामग्री यूज होने पर वे खुद कई बार काम रुकवा चुके हैं। लेकिन नगर निगम के अधिकारी एक्शन नहीं ले रहे और ठेकेदार को पेमेंट करने पर लगे हैं।

उनका कहना है कि वे चाहते हैं कि नाले के मेटीरियल की श्री राम लैब से जांच कराई जाए। इसके साथ ही विजिलेंस से इसकी जांच कराई जाए। इस रोड पर दुकानें करने वालों ने बताया कि बारिश होने पर यह रोड जलमग्न हो जाता है। जो नाला बनाया जा रहा है, वह सही नहीं बन रहा। नाले का फ्लो भी सही नहीं है। अब यह टूटने भी लगा है। इस ओर नगर निगम अधिकारियों को ध्यान देना चाहिए।

खबरें और भी हैं...