रामलाल ठाकुर का प्रदेश सरकार पर निशाना:बोले- जिन प्रोजेक्टों का उद्घाटन-शिलान्यास किया उनके लिए कितने पैसे दिए

बिलासपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रेस वार्ता के दौरान विधायक रामलाल ठाकुर और अन्य। - Dainik Bhaskar
प्रेस वार्ता के दौरान विधायक रामलाल ठाकुर और अन्य।

हिमाचल में चुनावी वर्ष में किए जा रहे शिलान्यासों और उद्घाटनों को लेकर एआईसीसी के सदस्य एवं विधायक रामलाल ठाकुर ने प्रदेश सरकार पर तीखा हमला किया है। उन्होंने कहा कि ऐसा लग रहा है कि डूबती हुई किसी कंपनी ने स्टॉक क्लीयरेंस सेल लगा रखी है। अपने स्टॉक के साथ ही वह दूसरों के स्टोर का माल भी सेल कर रही है।

रविवार को सर्किट हाउस में पत्रकारों से बातचीत में रामलाल ठाकुर ने कहा कि गत शनिवार को नयनादेवी विधानसभा क्षेत्र के दौरे पर आए सीएम जयराम ठाकुर ने कई प्रोजेक्टों के उद्घाटन और शिलान्यास किए। प्रदेश का मुखिया होने के नाते ऐसा करना उनका कर्तव्य भी है और अधिकार भी, लेकिन उन्हें पहले यह बताना चाहिए कि इन प्रोजेक्टों के लिए मौजूदा सरकार ने कितने पैसे दिए।

रामलाल ठाकुर ने कहा कि खुई-मैथी में पानी की स्कीम की नींव 2015 में तत्कालीन सीएम स्वर्गीय वीरभद्र सिंह ने रखी थी। इसके तीसरे फेज का भी करीब 80 फीसदी काम पूरा हो चुका है। सीएम से इसका शिलान्यास भी करवा दिया गया। मलोखर और स्याहुला के स्कूल साढ़े तीन वर्षों से चल रहे हैं। उनका उद्घाटन भी करवाया गया। यहां तक कि टेपरा खास के नाम से चल रहे स्कूल का वहां से 6 किलोमीटर दूर टेपरा के नाम से उद्घाटन करवा दिया गया। जल शक्ति विभाग की जो स्कीमें कई साल पहले से चल रही हैं, अब जल जीवन मिशन का नाम देकर उनके नवीनीकरण से लोगों को गुमराह किया जा रहा है।

2 साल पहले की घोषणाएं अधूरी

रामलाल ठाकुर ने कहा कि 2 साल पहले जुखाला में आए सीएम ने कई घोषणाएं की थीं। सीएचसी मारकंड को अपग्रेड करके 50 बिस्तरों की क्षमता का सिविल अस्पताल बनाने की घोषणा हुई थी, लेकिन आज तक एक नया कमरा तक नहीं बन पाया है। नम्होल चैकी को थाना बनाने और जुखाला में चौकी खोलने की घोषणाएं भी अधूरी हैं। पुरानी घोषणाओं को पूरा किए बगैर चुनावी वर्ष में लगाई गई स्टॉक क्लीयरेंस सेल इस डूबती हुई कंपनी को नहीं बचा पाएगी।