कोठीपुरा एम्स में 37 बच्चों का स्वास्थ्य जांचा:डीसी बोले- कुपोषण एक सामाजिक विकार; डॉक्टरों ने अभिभावकों को किया जागरूक

बिलासपुर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कोठीपुरा एम्स में बच्चों को जांच के लिए लेकर पहुंची महिलाएं। - Dainik Bhaskar
कोठीपुरा एम्स में बच्चों को जांच के लिए लेकर पहुंची महिलाएं।

हिमाचल के बिलासपुर में राष्ट्रीय पोषण अभियान के तहत शनिवार को कोठीपुरा एम्स में स्वास्थ्य जांच एवं परामर्श शिविर का आयोजन किया गया। जिला प्रशासन, रेडक्रॉस सोसाइटी तथा महिला एवं बाल विकास विभाग के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित शिविर में जिला भर से आए 37 बच्चों के स्वास्थ्य की जांच करने के साथ ही जरूरी टेस्ट भी किए गए। शिविर की अध्यक्षता डीसी पंकज राय ने की।

डीसी ने कहा कि कुपोषण एक गंभीर समस्या है। चिकित्सा के साथ यह सामाजिक विकार भी है। जिला के सभी ब्लाकों के बाल विकास परियोजना अधिकारियों के माध्यम से कुपोषित बच्चों को इस शिविर में लाया गया है। इसका उद्देश्य ऐसे बच्चों को बेहतर स्वास्थ्य जांच परामर्श व निशुल्क दवाइयां देना है। बच्चों के परिजनों को उन्हें स्वस्थ व पौष्टिक आहार को लेकर भी जागरूक किया गया, ताकि उन्हें जल्द से जल्द ठीक किया जा सके। ऐसे शिविर भविष्य में भी लगाए जाएंगे।

शिविर में बच्चों को अभिभावकों को सलाह देते चिकित्सक।
शिविर में बच्चों को अभिभावकों को सलाह देते चिकित्सक।

शिविर के दौरान एम्स के विशेषज्ञ डॉक्टरों ने बच्चों की सेहत की गहन जांच करते हुए उनके माता-पिता को जरूरी सलाह दी। उन्होंने कहा कि कुपोषण कई बीमारियों की जड़ है। इससे बच्चे का शारीरिक व मानसिक विकास सही ढंग से नहीं हो पाता है। ऐसे बच्चों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। अस्पताल की ओर से उन्हें अल्पाहार परोसने के साथ ही आवश्यक दवाइयां भी फ्री आफ कास्ट दी गई।

इस मौके पर बिलासपुर के सीएमओ डा. प्रवीण, एसएमओ डॉ. सतीश शर्मा, एम्स के एमएस डॉ. दिनेश वर्मा, जिला कार्यक्रम अधिकारी हरीश मिश्रा, जिला अस्पताल कल्याण शाखा की अध्यक्ष अनुपमा राय व रेडक्रॉस सोसाइटी के सचिव अमित भी मौजूद थे।