इंक्वारी में उलझे HPSSC के कई एग्जाम:अभ्यर्थी को अलग बिठाने की जांच पूरी, सुंदरनगर मामले में 3 कैंडिडेट की OMR सीट कैंसिल

हमीरपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हिमाचल प्रदेश कर्मचारी चयन आयोग। - Dainik Bhaskar
हिमाचल प्रदेश कर्मचारी चयन आयोग।

हिमाचल में कर्मचारी चयन आयोग द्वारा आयोजित किए जाने वाले कई एग्जाम इंक्वारी में उलझ गए हैं। कुछ मामलों में अलग-अलग एसआईटी गठित की गई हैं। 2 मामलों में जो एफआईआर दर्ज हुईं हैं, उनकी कार्रवाई को भी मुकम्मल होने में अभी समय लग सकता है। अब जब तक इन इंक्वायरी की रिपोर्ट फाइनल नहीं होतीं, लिखित परीक्षा के परिणामों पर संशय तो बरकरार रहेगा ही।

महिला अभ्यार्थी को अलग बिठाने की जांच रिपोर्ट तैयार

हमीरपुर के बॉय स्कूल में एक महिला अभ्यर्थी को एग्जाम में अलग बिठाए जाने के विवाद की जांच रिपोर्ट तैयार हो गई है। हमीरपुर के एसडीएम ने इसकी इंक्वायरी फाइनल करके आयोग को सौंपी है। अब कमीशन की बैठक में रिपोर्ट पर अंतिम मोहर लगेगी।

सचिवालय में जेओए(आईटी) के 20 पदों को भरने के लिए इस एग्जाम में 134 में से 129 अभ्यर्थी बैठे थे। उनमें से कुछ ने आयोग को शिकायत कर आरोप लगाया था कि एक महिला अभ्यर्थी अलग से बिठाया गया था। इस मामले में कुछ नए हाईकोर्ट का दरवाजा भी खटखटाया है। जिसकी फाइनल परिणाम आना है।

3 अभ्यार्थियों की ओएमआर शीट आयोग ने की कैंसिल

सुंदरनगर में जेओए आईटी की लिखित परीक्षा के दौरान जिस मामले को लेकर एफआईआर दर्ज हुई है। उसमें आयोग ने संबंधित 13 सेंटरों का रिकॉर्ड भी जांच एजेंसी को सौंप दिया है। इसके अलावा 3 अभ्यार्थियों की ओएमआर सीट्स भी आयोग ने कैंसिल कर उन्हें एग्जाम के अयोग्य घोषित कर दिया है। अब आयोग फैसला लेगा कि कब तक इन्हें एग्जाम से वंचित किया जाए।

ऊना के एक सरकारी स्कूल में भी नकल के मामले में एफआईआर दर्ज हुई है। उसकी जांच भी यूएमसी केस बनने के बाद जारी है।

आयोग के सेक्रेटरी जितेंद्र कंबर का कहना है कि एसडीएम की जांच रिपोर्ट आने के बाद अब उसे आयोग के समक्ष रखा जाएगा। सुंदरनगर मामले में जो रिकॉर्ड जितने सेंटरों का जांच एजेंसी ने मांगा था। उसे मुहैया करवा दिया गया है। 3 अभ्यर्थियों की ओएमआर सीट आयोग ने कैंसिल कर दी है।