हमीरपुर में कांग्रेसियों में खींचतान:पठानिया बोले- साढ़े 4 साल जिन्होंने बैठकें बुलाईं उन्हें टोका नहीं, हमने बुलाई तो अनुशासनहीनता

हमीरपुर2 महीने पहले

हिमाचल के हमीरपुर में कांग्रेस के एक खेमें के 'वर्कर सम्मेलन' के बहाने हुई बैठक का विवाद अभी थमने का नाम नहीं ले रहा है। पूर्व विधायक कुलदीप सिंह पठानिया ने इस बैठक का आयोजन पिछले सप्ताह किया था, लेकिन उसके बाद जिला कांग्रेस ने इसे अनुशासनहीनता करार देकर कार्रवाई करने का दम भर लिया था। मगर पूर्व विधायक ने शुक्रवार को संगठन पर दोहरे मापदंड अपनाने का आरोप लगाया है।

उनका कहना है कि जो लोग साढ़े चार सालों तक इस तरह की बैठकों में मशरूफ रहे, तब तो किसी ने उन्हें नहीं टोका। तब वह अनुशासनहीनता नहीं थी। भाजपा समर्थित ऐसे नेताओं की बैठकों में भी जब कांग्रेस के वर्कर वहां जाते रहे तब तो सब ठीक था, लेकिन कांग्रेस के पुराने वर्कर्स को इकट्ठा करके सुखविंदर सिंह सुक्खू के हमीरपुर आगमन को लेकर यदि इन्हें बुलाकर निमंत्रण देने का काम हुआ है तो वह अनुशासनहीनता कैसे हो सकता है।

पठानिया ने कहा कि जिन्होंने पहले बैठकें की हैं, उनकी शिकायतें तो हमने कभी नहीं कीं। अब यह अनुशासनहीनता संगठन को दिखाई दे रही है।

प्रतिस्पर्धा में बैठकें करना अनुशासनहीनता नहीं: पठानिया

पठानिया का कहना है कि क्षेत्र चाहे जो भी हो, उसमें प्रतिस्पर्धा नहीं हो ऐसा कैसे हो सकता है। कांग्रेस के भीतर भी प्रतिस्पर्धा का होना स्वाभाविक है। जब किसी को टिकट मिल जाता है और उसके बाद कोई नेता या वर्कर अलग से अपनी डफली बजाने का काम करता है तो वह अनुशासनहीनता माना जाता है। उन्होंने जिला संगठन से कहा कि वह बेवजह ही इस मामले को तूल ना दे।

अब बैठक 19 मई को

कांग्रेस सेवादल के जिला प्रमुख मदन लाल कौंडल ने कहा कि शुक्रवार को दिवंगत सुखराम को श्रद्धांजलि देने के लिए समारोह आयोजित किया गया। अब सेवा दल की बैठक 19 मई को होगी।