जयसिंहपुर में तस्करों के हौसले बुलंद:तीसरी बार चंदन के पेड़ काटने पहुंचे, लोगों को आते देख मौके से भागे

बैजनाथ2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चंदन तस्करों को ढूंढते स्थानीय लोग। - Dainik Bhaskar
चंदन तस्करों को ढूंढते स्थानीय लोग।

हिमाचल के कांगड़ा स्थित जयसिंहपुर में तस्करों ने बुधवार रात को चंदन के पेड़ काटने की कोशिश की, लेकिन स्थानीय लोगों ने शोर सुन लिया। जब लोग मौके पर पहुंचे तो तस्कर भाग गए। लोगों ने रात को करीब 3 से 4 घंटे जंगल में उनकी तलाश भी की, लेकिन अंधेरा होने के कारण सफलता नहीं मिली। इससे पहले तस्कर सोमवार को इसी खेत से चंदन के 6 पेड़ काटकर ले जा चुके हैं।

जानकारी के अनुसार बुधवार रात करीब 9 बजे स्थानीय निवासी विरेंदर ने अपने घर से कुछ आवाज सुनी तो उसने आसपास के लोगों को इसकी सूचना दी। जिस पर आसपास के लोग एकत्र होकर मौके पर गए तो वहां से एक युवक भाग गया। उसने पहाड़ी से नीचे छ्लांग लगा दी। लोगों ने उसे ढूंढ़ने की पूरी कोशिश की, लेकिन अंधेरे का फायदा उठाकर वो भागने में कामयाब हो गया।

लोगों को देखकर साथी तस्कर भी भागे
वहीं, बताया जा रहा है कि उसके साथ आए अन्य साथी लोगों को आते देखकर भाग गए थे। गौरतलब है कि सोमवार रात को राजेश सुघा की जमीन से तस्कर चंदन के 6 पेड़ों को काटकर ले गए थे। मंगलवार रात को फिर से दूसरी बार पेड़ काटने के लिए आए थे पर वहां रह रहे प्रवासी ने शोर सुनकर सब को आगाह कर दिया। जिसके बाद वो वहां से भाग गए। तस्कर तीसरी बार पेड़ काटने पहुंचे थे।

घटना की जानकारी देता प्रवासी बाबूराम।
घटना की जानकारी देता प्रवासी बाबूराम।

प्रवासी को तस्करों से लग रहा भय
राजेश सुघा की जमीन में रह रहे प्रवासी बाबू राम ने कहा कि लगातार तीसरी बार यह तस्कर यहां पर पेड़ काटने के लिए पहुंचे हैं। अब उन्हें तस्करों से भय भी लग रहा है क्योंकि वह अपने परिवार के साथ यहां रहते हैं। उन्होंने शोर मचाकर तस्करों को यहां से भगाया है। वहीं, DSP लालमन ने बताया कि पुलिस गहनता से इस मामले की जांच कर रही है. जल्द आरोपी पुलिस गिरफ्त में होंगे।