पर्यवेक्षकों से सीधे कर सकते हैं चुनावी शिकायत:DC निपुण जिंदल बोले- कांगड़ा में 4 IAS अधिकारी तैनात, जिला प्रशासन ने जारी किए मोबाइल नंबर

कांगड़ा5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जानकारी देते कांगड़ा DC निपुण जिंदल। - Dainik Bhaskar
जानकारी देते कांगड़ा DC निपुण जिंदल।

हिमाचल के कांगड़ा जिले में चुनाव संबंधी किसी भी प्रकार की शिकायत सीधे चुनाव आयोग के पर्यवेक्षकों से की जा सकती है। मतदान प्रक्रिया को पारदर्शी और शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न कराने के लिए चुनाव आयोग ने जिले के लिए 4 IAS अधिकारी भुवनेश प्रताप सिंह, दुष्मंत कुमार बेहेरा, किरपा नंद झा और वरजेश नरैण को सामान्य पर्यवेक्षक बनाया है। जबकि IPS लता मनोज कुमार पुलिस पर्यवेक्षक बनाई गई हैं।

जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त डॉ. निपुण जिंदल ने कहा कि लोग चुनाव प्रक्रिया और आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन संबंधी कोई भी शिकायत सीधे संबंधित क्षेत्र के सामान्य पर्यवेक्षक और पुलिस पर्यवेक्षक से कर सकते हैं।

इन नंबरों पर करें फोन

IAS अधिकारी भुवनेश प्रताप सिंह का मोबाइल नंबर 6230479507 है। वह नूरपुर, इंदौरा, फतेहपुर और ज्वाली विधानसभा क्षेत्रों के सामान्य पर्यवेक्षक हैं। नूरपुर में PWD के विश्राम गृह में सेट नंबर 4 में ठहरे हैं और उनका लैंड लाइन नंबर 01893 299157 है।

देहरा, जसवां परागपुर और ज्वालामुखी के सामान्य पर्यवेक्षक IAS अधिकारी दुष्मंत कुमार बेहेरा का मोबाइल नंबर 9230359553 है। वे ज्वालामुखी में PWD के विश्राम गृह के सेट नंबर 2 में ठहरे हैं। उनका लैंड लाइन नंबर 01970 223310 है। IAS अधिकारी किरपा नंद झा का मोबाइल नंबर 6230274073 है। वे जयसिंहपुर सुलह, पालमपुर और बैजनाथ के सामान्य पर्यवेक्षक हैं।

नगरोट, कांगड़ा, शाहपुर और धर्मशाला के सामान्य पर्यवेक्षक वरजेश नरैण

वे पालमपुर में CSIR के विश्राम गृह में सेट नंबर 4 में ठहरे हैं। उनका लैंड लाइन नंबर 01894 230602 है। IAS अधिकारी वरजेश नरैण का मोबाइल नंबर 6230195953 है। वे नगरोटा, कांगड़ा, शाहपुर और धर्मशाला विधानसभा क्षेत्रों के लिए सामान्य पर्यवेक्षक हैं। वरजेश नरैण धर्मशाला में नए परिधि गृह में सेट नंबर 401 में ठहरे हैं। उनका लैंड लाइन नंबर 01892 226461 है।

इसके अलावा IPS अधिकारी लता मनोज कुमार का मोबाइल नंबर 7807735802 है। वे धर्मशाला में नए परिधि गृह में सेट नंबर 402 में ठहरी हैं। जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि संबंधित क्षेत्रों के लोग चुनाव पर्यवेक्षकों से उनके मोबाइल नंबर या लैंड लाइन पर फोन करके अथवा व्यक्तिगत तौर पर मिलकर भी चुनाव संबंधी कोई शिकायत को लेकर बात कर सकते हैं।