15 हजार फीट से ज्यादा नहीं कर सकेंगे ट्रैकिंग:कुल्लू में 6 रूटों पर प्रशासन के आदेश, परमिशन लेकर जाना होगा

मनाली7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।

हिमाचल में कुल्लू के 6 ट्रेकिंग रूट पर ट्रैकर्स 15 हजार फीट की ऊंचाई से ज्यादा ट्रैकिंग नहीं कर सकेंगे। इसको लेकर प्रशासन ने आदेश जारी कर दिए हैं। आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की ओर से जारी आदेशों के अनुसार तेंतू पास, मनाली पास, सारा उगमा पास, एनिमल पास, डेबसा पास और गुंथर पास के रूट पर उपरोक्त ऊंचाई से ज्यादा ट्रैकिंग करने पर मनाही होगी।

इन रूट पर पर्वतारोहण की अनुमति, आईएमएफ और अटल बिहारी वाजपेयी पर्वतारोहण संस्थान मनाली के निदेशक को सूचित करने के बाद ही मिलेगी। इसके लिए टूर ऑपरेटर और टीम लीडर जिम्मेदार होंगे। इसके अलावा जिला के 15 हजार फीट से ऊंचाई वाले रूट पर ऑपरेटर और टीम लीडर पर्वतारोहण संस्थान मनाली के निदेशक को सूचित करेंगे। इसके लिए भी संबंधित सभी अनुमतियां प्रशासन से लेनी होंगी।

इसी तरह 9 हजार से लेकर 15 हजार फीट तक की ऊंचाई के बीच में कोई भी ट्रैकिंग गतिविधियां संबंधित डीएफओ की अनुमति के बिना नहीं हो सकती। ट्रैकिंग पर जाने वाले सभी ट्रैकर्स की सूचना डीएफओ को पर्वतारोहण संस्थान के निदेशक को रोजाना आधार पर देनी सुनिश्चित करना होगा। जिला कुल्लू आपदा प्रबंधन प्राधिकरण को भी इस संबंध में सूचित करना अनिवार्य होगा। सूचना देने के लिए फॉर्मेट भी जारी किया गया है।

डीसी की ओर से जारी आदेशों के अनुसार कोई भी व्यक्ति बिना सुरक्षा उपकरणों, आवश्यक दवा और प्राथमिक उपचार किट के ट्रैकिंग पर नहीं जा सकते हैं। ये आदेश पूरे जिला कुल्लू पर लागू रहेंगे और आगामी आदेशों तक प्रभावी रहेंगे। यदि कोई व्यक्ति इन आदेशों की अवहेलना करता है तो नियमों के अनुसार उसे जेल हो सकती है जोकि दो साल तक बढ़ाई जा सकती है।