मंगलौर में समावेशी कार्यशाला का आयोजन:साम्फिया फाउंडेशन के आश बाल विकास केंद्र ने दी दिव्यांगता के बारे में दी जानकारी

कुल्लू3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला मंगलौर में समावेशी कार्यशाला में मौजूद बच्चे। - Dainik Bhaskar
वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला मंगलौर में समावेशी कार्यशाला में मौजूद बच्चे।

हिमाचल के कुल्लू स्थित AD हाइड्रो पावर प्रोजेक्ट लिमिटेड (ADHPL) मनाली द्वारा प्रायोजित साम्फिया फाउंडेशन के आश बाल विकास केंद्र ने समावेशी कार्यशाला का आयोजन वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला मंगलौर में किया। इस दौरान पाठशाला के अध्यापकों व छात्र छात्रों को साम्फिया फाउंडेशन द्वारा दिव्यांगता के क्षेत्र में दी जाने वाली सेवाओं के बारे में जानकारी दी।

बीजू, कार्यक्रम प्रबंधक ने सभी को साम्फिया फाउंडेशन द्वारा चलाई जा रही सभी गतिविधियों पर प्रकाश डाला। बताया कि साम्फिया फाउंडेशन दिव्यांगता के क्षेत्र में जागरूकता लाने के लिए एक विशेष कार्यक्रम चला है, जिसके तहत जिला के सभी शिक्षण संस्थानों, सार्वजनिक कार्यक्रमों एवं त्योहारों आदि में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करने प्रस्तावित हैं।

विभिन्न थैरेपी व स्पेशल एजुकेशन के बारे में दी जानकारी

साम्फिया फाउंडेशन के फिजियोथैरेपिस्ट डॉ. सोनू ठाकुर ने सभी को विभिन्न तरह की थैरेपी सेवाओं, जिसमें फिजियोथैरेपी, ऑक्यूपेशनल थैरेपी, स्पीच थैरेपी एवं स्पेशल एजुकेशन के विषय में जानकारी दी। साथ में दिव्यांगता के प्रकारों के बारे भी जानकारी प्रदान की। दूसरे सत्र में आश बाल विकास केंद्र की धनेश्वरी ठाकुर ने अलग-अलग दिव्यांगता पर आधारित गतिविधियां कराईं।

मिने राम प्रधानाचार्य मंगलौर ने साम्फिया फाउंडेशन के सभी पदाधिकारियों को महत्वपूर्ण जानकारी देने के लिए धन्यवाद जताया। विशेष आवश्यकता बाले बच्चों के विकास के लिए आश बाल विकास द्वारा दी जाने वाली सेवाओं की सराहना की। इस कार्यशाला में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मंगलौर डोलमा भी उपस्थित रहीं।