लाहौल स्पीति में शीतकालीन खेलों को बढ़ावा:जिला प्रशासन की नई पहल, चंद्रभागा नदी पर की कयाकिंग अभियान की शुरूआत

कुल्लू2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हिमाचल के जिला लाहौल स्पीति में शीतकालीन खेलों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से शीतकालीन पर्यटन व पर्यावरण संरक्षण को बल प्रदान करने के लिए नई पहल की गई है। उपायुक्त लाहौल स्पीति सुमित खिमटा ने आज कोकसर में चंद्रभागा नदी के तट पर 4 दिवसीय कयाकिंग अभियान का विधिवत रूप से पूजा अर्चना के उपरांत शुभारंभ किया।

अटल बिहारी वाजपेयी पर्वतारोहण एवं संबंध खेल संस्थान मनाली के 5 सदस्यों की विशेषज्ञ क्याकरस दल को हरी झंडी दिखाकर रवाना करने के उपरांत सुमित खिमटा ने कहा कि जिला लाहौल स्पीति में प्रथम बार शीतकालीन खेल में कयाकिंग को अभियान के तौर पर शामिल किया गया है, इससे शीतकालीन व साहसिक खेलों को प्रोत्साहन प्रदान किया जा रहा है।

उपायुक्त खिमटा ने अटल बिहारी वाजपेयी पर्वतारोहण संबद्ध खेल संस्थान मनाली, पर्यटन विभाग और खेल विभाग का धन्यवाद करते हुए कहा कि इन विभागों के संयुक्त तत्वाधान में लाहौल स्पीति के चंद्रभागा नदी में 4 दिनों में 75 किलोमीटर कयाकिंग अभियान आजादी के अमृत महोत्सव के 75 वर्ष की भावना को लेकर आयोजित किया जा रहा है।

कयाकिंग अभियान की टीम कोकसर पुल के डोरनी मोड से तान्दी संगम होते हुए उदयपुर तक शीतकालीन खेलों को उजागर करने व विशेषकर युवाओं का इन खेलों के प्रति रुझान बढ़ाने के मकसद से लोगों को जागरूकता का संदेश देंगे।

उपायुक्त सुमित खिमटा ने कहा कि विश्व आइस स्केटिंग दिवस के दिन सिस्सू में हिमाचल आइस स्केटिंग एसोसिएशन व हित धारकों के समन्वय से कयाकिंग, स्नो स्कीइंग आइस स्केटिंग व अन्य खेलों की गतिविधियां आयोजित की जाएंगी और शीतकालीन व साहसिक खेलों से जुड़ी तमाम संभावनाओं को भी तलाशा जाएगा।