लाहौल में हिमखंड गिरने का सिलसिला शुरू:पीर पंजाल की पहाड़ी से फिर गिरा एवलांच, चन्द्रा भागा नदी का जल प्रवाह अवरुद्ध होने के बाद फिर शुरू

केलांग14 दिन पहले

हिमाचल में जिला लाहौल स्पीति की लाहौल घाटी में पीर पंजाल की पहाड़ियों से एवलांच गिरने का सिलसिला फिर शुरू हो गया है। बुधवार दोपहर बाद लाहौल के पट्टन इलाके के तोजिंग गांव के सामने चन्द्रा भागा नदी के पार पीर पंजाल की चोटी से एवलांच गिरने का मामला सामने आया है। केंद्रीय जल आयोग की स्थानीय इकाई के इनपुट के अनुसार, हिमस्खलन के कारण चंद्रभागा(चिनाब) नदी अवरुद्ध हो गई है। फिलहाल नदी में जल प्रवाह फिर से शुरू हो गया है। जिला पुलिस के साथ जिला प्रशासन स्थिति पर नजर रखे हुए है। निचली तटवर्ती घाटियों के पड़ोसी जिलों को भी सूचित कर दिया गया है।

एवलांच का मलवा चन्द्रा भागा नदी तक पहुंच गया जबकि एवलांच से उठने वाले बर्फ का बबंडर रिहायशी इलाकों तक फैल गया। एवलांच गिरने से किसी तरह की जान माल का नुकसान नही हुआ है। डीसी सुमित खिमटा ने कहा कि भारी बर्फबारी के बाद लाहौल के कई इलाकों में हिमखंड गिरने का खतरा बना हुआ है। प्रशासन ने आवाजाही के दौरान लोगों से सावधानी बरतने की अपील की है।

मलबे ने चन्द्रा भागा नदी का बहाव रुका।
मलबे ने चन्द्रा भागा नदी का बहाव रुका।

पिछले 24 घंटे से हो रही बर्फबारी
हालांकि बहाव के रुकने से किसी को कोई खतरा नही है। बुधवार को पट्टन घाटी के जहालमा से आगे पीर पंजाल की पहाड़ी से एवलांच गिरने से बर्फ के मलबे ने चन्द्रा भागा नदी का बहाव अवरुद्ध हो गया था। नदी में फिर से जल प्रवाह शुरू हो गया है। लेकिन लाहौल में पिछले 24 घंटे से रुक रुक कर बर्फबारी के दौर जारी है।

जिला प्रशासन ने लिया संज्ञान
जिप लाहौल स्पीति के उपाध्यक्ष राजेश शर्मा ने बताया कि ग्रामीणों ने इस उन्हें इस घटना की जानकारी दी है। बताया कि नदी का बहाव हिमखंड के मलबे के कारण अभी भी रुका हुआ था। लेकिन इससे किसी तरह का कोई खतरा नही है। बताया कि पुलिस प्रशासन स्थिति को लेकर लगातार नजर बनाए हुए हैं। लोगों को नदी के किनारे की तरफ न जाने को कहा गया है।

खबरें और भी हैं...