करसोग में परिवहन निगम का तुगलकी फरमान:रविवार को बंद कर दी 4 पंचायतों को सुविधा देने वाली एक मात्र धारकांडलू बस

करसोग2 महीने पहले
करसोग बस स्टैंड पर खड़ी बसें।

हिमाचल के करसोग में परिवहन निगम का तुगलकी फरमान हजारों की जनता पर भारी पड़ गया हैं। यहां HRTC की धारकांडलू से शिमला चलने वाली बस को रविवार के दिन बंद किया गया हैं, जबकि कांडी सपनोट, मैहरन, सांवीधार व साहज 4 पंचायत के लोगों के लिए रोजाना शिमला जाने और वापस आने को यही एक मात्र बस सेवा है। हैरानी की बात है कि परिवहन निगम ने ग्रामीणों की सुविधा का ध्यान न रखते हुए केवल मात्र अपने फायदे के लिए बस को बंद कर दिया। जिससे परिवहन निगम के प्रति स्थानीय जनता में भारी रोष है।

परिवहन निगम के ध्यान में कई बार मामला लाए जाने पर भी ग्रामीणों की समस्या का कोई समाधान नहीं हुआ है। ऐसे में निगम प्रबंधन की इस लापरवाही से परेशान लोगों ने सीएम हेल्पलाइन के 1100 नंबर पर इस बारे में शिकायत दर्ज करवाई है।

धारकांडलू से सुबह 6.15 पर चलती है बस
HRTC की धार कांडलू से शिमला को जाने वाली एक मात्र बस सुबह 6.15 पर चलती है। जो मैहरन के तहत वाया नाग ककनों व धूंधन होकर शिमला पहुंचती है, दोपहर बाद 2.10 पर शिमला से वापस धार कांडलु को लौटती है।

ऐसे में सुबह जरूरी कार्य से शिमला जाने वाले लोग वापस इसी बस से घर लौटते है। ध्यान देने वाली बात ये की चार पंचायतों की जनता के लिए शिमला को जाने वाली थी एक मात्र सीधी बस सेवा है।