बिंद्राबणी डंपिंग साइट से कम होगा बोझ:18 माह में 45 हजार टन कूड़े का होगा निस्तारण, मंडी नगर निगम ने JVR से किया अनुबंध

मंडी2 महीने पहले

हिमाचल के मंडी नगर निगम की बिंद्राबणी स्थित डंपिंग साइट में अब कूड़े का पहाड़ जल्दी खत्म होगा। टेंडर हासिल करने वाली हरियाणा की JVR कंपनी को 18 माह के अनुबंध के कार्यकाल में 45 हजार टन कूड़े का निष्पादन करना होगा। कसौटी पर खरा उतरने के बाद कंपनी के साथ दोबारा अनुबंध किया जाएगा। कंपनी ने डंपिंग साइट में कूड़े का भार मापने के लिए धर्मकांटा स्थापित कर दिया है।

नगर निगम ने कूड़े से जैविक खाद बनाने के लिए डंपिंग साइट में 20 से अधिक पिट्स का भी निर्माण कर दिया है। वहीं, कूड़े के जमा स्टॉक को जल्दी खत्म करने के लिए अन्य कंपनियों के विशेषज्ञों से भी नगर निगम संपर्क में है।

डंपिंग साइट में 20-25 साल से डाला जा रहा कूड़ा
बिंद्राबणी डंपिंग साइट में बीते 20 से 25 साल से कूड़े को ठिकाने लगाया जा रहा है। कूड़े की आमद के अनुसार निष्पादन न होने के कारण डंपिंग साइट में कूड़े का पहाड़ बन गया है। नगर निगम ने डंपिंग साइट से उठने वाली बदबू को कम करने के लिए वहां पर हरियाली रोपने का निर्णय लिया है। जिससे कि बदबू को कम करने के साथ साथ पर्यावरण संरक्षण में भी योगदान दिया जा सके।

बारिश के पानी की निकासी के लिए बनाई नाली
डंपिंग साइट में कूड़ा उठाने से खाली होने वाले स्थान में मिट्टी बिछाकर पौधरोपण किया जाएगा। बारिश की स्थिति में डंपिंग साइट से रिसाव ब्यास में घुलने से रोका जाएगा। नगर निगम ने बारिश के पानी की निकासी के लिए डंपिंग साइट में नाली का निर्माण किया है। गंदगी युक्त पानी का भंडारण करने के लिए दो टैंक का भी निर्माण किया जाएगा। डंपिंग साइट की ओर से आने वाले पानी को इन टैंक में भंडारण किया जाएगा।