पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

हिमाचल प्रदेश को बड़ा झटका:26 जनवरी को गणतंत्र दिवस परेड में शामिल नहीं होगी अटल टनल रोहतांग की झांकी; चौथे राउंड में हुई बाहर

शिमला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
टनल का थ्रीडी मॉडल और वीडियो भेजा गया था। तीन राउंड पार हो गए थे, लेकिन चौथे राउंड में किस्मत ने साथ नहीं दिया। - Dainik Bhaskar
टनल का थ्रीडी मॉडल और वीडियो भेजा गया था। तीन राउंड पार हो गए थे, लेकिन चौथे राउंड में किस्मत ने साथ नहीं दिया।
  • पिछली बार परेड में कुल्लू दशहरा की झांकी को शामिल किया गया था
  • कोरोना के कारण कम भीड़ जुटाना माना जा रहा रद्द करने की वजह

हिमाचल प्रदेश वासियों को निराश करने वाली खबर है कि अटल टनल रोहतांग की झांकी 26 जनवरी की परेड में शामिल नहीं होगी। क्योंकि झांकी को रक्षा मंत्रालय ने चौथे राउंड में रद्द कर दिया है।

राज्य के भाषा, कला एवं संस्कृति विभाग के निदेशक सुनील शर्मा ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मंत्रालय की ओर से पत्र भेजकर सूचित किया गया है। पिछली बार परेड में कुल्लू दशहरा की झांकी को शामिल किया गया था। इससे पहले चार साल तक हिमाचल की झांकी दिल्ली गणतंत्र दिवस परेड में शामिल नहीं हो पाई थी।

सुनील शर्मा ने बताया कि इस बार हिमाचल की रोहतांग टनल का थ्रीडी मॉडल और वीडियो भेजा गया था। तीन राउंड पार हो गए थे, लेकिन चौथे राउंड में किस्मत ने साथ नहीं दिया। माना जा रहा है कि इस बार कोरोना संक्रमण के कारण भीड़ कम जुटानी है, इसलिए कम झांकियां रहेंगी।

बता दें कि अटल टनल रोहतांग हिमाचल प्रदेश के सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण है और जनजातीय जिला लाहौल स्पीति की समृद्ध संस्कृति की झलक है। यह दुनिया की सबसे ऊंची टनल है, जो हिमाचल प्रदेश में स्थित है। कुल्लू में मनाली लेह मार्ग पर बनी 9 किलोमीटर से ज्यादा लंबी इस टनल का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था।

पीरपंजाल की पहाड़ी को भेदकर बनाई गई यह टनल 10040 फीट की ऊंचाई पर स्थित है और कुल्लू से लाहौल स्पीति तक जाती है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आपकी प्रतिभा और व्यक्तित्व खुलकर लोगों के सामने आएंगे और आप अपने कार्यों को बेहतरीन तरीके से संपन्न करेंगे। आपके विरोधी आपके समक्ष टिक नहीं पाएंगे। समाज में भी मान-सम्मान बना रहेगा। नेग...

और पढ़ें