• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Chinese Civilian Reached Himachal Without Permission During Corona Period, Imprisoned For 10 Months And Fined

गलती करने पर सजा तो मिलेगी ही:कोरोना काल में बिना अनुमति हिमाचल पहुंचा चीनी नागरिक दोषी करार, 10 महीने की कैद और जुर्माना लगाया गया

धर्मशाला6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस वेरिफिकेशन में पासपोर्ट और वीजा वैध पाए गए थे, लेकिन पासपोर्ट पर इमिग्रेशन की मुहर नहीं थी।  - Dainik Bhaskar
पुलिस वेरिफिकेशन में पासपोर्ट और वीजा वैध पाए गए थे, लेकिन पासपोर्ट पर इमिग्रेशन की मुहर नहीं थी। 

हिमाचल के कांगड़ा जिले में देहरा से गिरफ्तार चीनी नागरिक को भारतीय कानून का उल्लंघन और अवैध तरीके से प्रदेश में दाखिल होने पर कोर्ट ने दोषी करार दिया है। कोर्ट ने चीनी नागरिक लाइ क्सिओदन को 10 महीने की कैद और 11000 रुपए जुर्माने की सजा सुनाई है। एडिशनल ज्यूडिशियल कोर्ट देहरा में मामले की सुनवाई हुई। जज शीतल शर्मा ने फैसला सुनाया।

गौरतलब है कि बीते साल 8 जुलाई 2020 को चीनी नागरिक लाइ क्सिओदन कांगड़ा की सीमा में दाखिल हुआ था। चीनी पर्यटक लाइ क्सिओदन 7 जुलाई को दिल्ली से ट्रेन से चंडीगढ़, फिर किसी तरह ऊना और वहां से कालोहा गांव पहुंचा। कलोहा में नाके में तैनात पुलिस कर्मियों ने बस में बैठे यात्रियों की जांच की तो यह चीनी पर्यटक निकला। पुलिस वेरिफिकेशन में उसके पासपोर्ट और वीजा वैध पाए गए थे, जिसमें उसका नाम लाइ क्सिओदन है। पुलिस जांच में लाइ क्सिओदन पीपल्स लिबरेशन आर्मी का सैनिक निकला। जांच में यह भी सामने आया था कि वह नेपाल के रास्ते अवैध रूप से भारत आया था। उसके पासपोर्ट पर इमिग्रेशन की मुहर नहीं थी।

चीनी नागरिक गैरकानूनी तरीके से भारत में दाखिल हुआ था, इसलिए विदेशी पंजीकरण एक्ट के उल्लंघन के आरोप में उसके खिलाफ मामला दर्ज करके उसे गिरफ्तार कर लिया गया था। ADA रवि कुमार ने कहा कि आरोपी चीनी पर्यटक लाइ क्सिओदन को शीतल शर्मा की कोर्ट में पेश किया गया। सरकारी वकील की दलीलों पर उसे दोषी करार दिया गया। इसके बाद जज ने उसे 10 माह कारावास और 11000 रुपए जुर्माने की सजा सुनाई। सजा पूरी होने के बाद आरोपी लाइ क्सिओदन को चाइनीज दूतावास के हवाले कर दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...