• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Corona Epidemic In Himachal Pradesh, CM Jairam Thakur Extends Covid Restrictions Till 10 May 2021

हिमाचल में कोरोना को लेकर बढ़ी सख्ती:10 मई तक बंद रहेंगे शिक्षण संस्थान; शादी में शामिल होंगे सिर्फ 20 लोग, मंदिरों में दर्शन पर भी रोक लगी रहेगी

शिमला6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मुख्यमंत्री ने गुरुवार को अपने आवास पर प्रदेश में कोरोना महामारी की स्थिति पर समीक्षा बैठक की। - Dainik Bhaskar
मुख्यमंत्री ने गुरुवार को अपने आवास पर प्रदेश में कोरोना महामारी की स्थिति पर समीक्षा बैठक की।

हिमाचल प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सख्ती भी बढ़ा दी गई है। राज्य आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से जारी आदेशों को 10 मई तक बढ़ा दिया गया है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने गुरुवार को अपने आवास पर प्रदेश में कोरोना महामारी की स्थिति पर समीक्षा बैठक की। इस बैठक में फैसला लिया गया कि हिमाचल में शिक्षण संस्थान 10 मई तक बंद रहेंगे। मंदिरों में दर्शन पर भी रोक लगी रहेगी।

इसके अलावा पूरे प्रदेश में धाम पर रोक लगा दी गई है। कोविड की स्थिति से निपटने के लिए हर जिले को 15-15 करोड़ रुपए दिए जाएंगे। शादियों में अब 50 की बजाय 20 लोग ही शामिल हो सकेंगे। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बताया कि प्रदेश में बेड व ऑक्सीजन की कमी नहीं है। लेकिन बढ़ते मामलों को देखते हुए प्राइवेट हॉस्पिटल को भी दायरे में लेने के निर्णय लिया गया है।

कांगड़ा के सिटी हॉस्पिटल, विवेकानंद अपोलो व बालाजी हॉस्पिटल को तैयार रखा जाएगा। आयुर्वेद कॉलेज पपरोला में 200 बेड्स की व्यवस्था की जाएगी। परौर में राधा स्वामी सत्संग भवन में 200 बेड का प्रबंध किया जाएगा। शिमला में आयुर्वेद अस्पताल के 50 बेड व IGMC में न्यू ओपीडी में भी 300 बेड की व्यवस्था की जाएगी। कोविड ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर्स को इंसेंटिव भी दिया जाएगा।

हमारे पास ऑक्सीजन उपलब्ध है। केंद्र सरकार से बी-टाइप सिलिंडर मांगे गए हैं। 5000 खाली सिलिंडर की मांग भी की गई है। शादी व अंतिम संस्कारों में लोगों की संख्या निर्धारित करने को लेकर डीसी अपने स्तर पर फैसला लेंगे। इसके अलावा सभी तरह के सामाजिक, शैक्षणिक, सांस्कृतिक, धार्मिक व राजनीतिक आयोजनों पर पूरी तरह से प्रतिबंध रहेगा।

फल, सब्जी, दूध और दवा जैसी आवश्यक वस्तुओं की बिक्री करने वाली दुकानों को छोड़कर अन्य सभी तरह की दुकानें शनिवार व रविवार को बंद रहेंगी। सूबे के सभी सरकारी दफ्तरों में 50 फीसदी कर्मचारी ही आएंगे। बाकी 50 फीसदी वर्क फ्रॉम होम करेंगे। शनिवार को सभी कर्मचारी घर से काम करेंगे। दिव्यांग और गर्भवती कर्मचारी दफ्तर नहीं आएंगे। बसों में भी सिर्फ 50 फीसदी सवारियां होंगी।

खबरें और भी हैं...