• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Demonstration Of Youth Congress In Paper Leak Case, Congress Brigade Demanding To Remove Remove DGP

शिमला में युवा कांग्रेस का प्रदर्शन:पेपर लीक मामले में उग्र हुई यूथ बिग्रेड; 9 दिन से चल रहा क्रमिक अनशन

शिमला4 महीने पहले
शिमला में DC ऑफिस के बाहर प्रदर्शन करते हुए युकां कार्यकर्ता।

हिमाचल में पुलिस कांस्टेबल पेपर लीक मामला तूल पकड़ रहा है। युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बुधवार को शिमला में DC ऑफिस के बाहर प्रदर्शन किया। सभी जिला मुख्यालय में भी कांग्रेस की युवा ब्रिगेड ने धरना देकर हिमाचल पुलिस महानिदेशक (DGP) संजय कुंडू को पद से हटाने की मांग की।

गौरतलब है कि युवा कांग्रेस 9 दिनों से सभी जिला मुख्यालयों में क्रमिक अनशन कर रही है। युकां कार्यकर्ता पुलिस पेपर लीक मामले की CBI जांच से संतुष्ट नहीं है, जबकि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने यह मामला CBI को सौंपने का निर्णय लिया है। युवा कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष निगम भंडारी ने बताया कि पेपर लीक मामले में तब तक निष्पक्ष जांच संभव नहीं है जब तक संजय कुंडू को पद से नहीं हटाया जाता है। वह जांच को प्रभावित कर सकते हैं।

उन्होंने आरोप लगाया कि अब तक की जांच इस मामले में संलिप्त पुलिस अधिकारियों को बचाने का प्रयास नजर आता है। अब तक केवल पेपर खरीदने के लिए पैसे देने वाले बच्चों को ही गिरफ्तार किया गया है। पेपर जिन अधिकारियों की लापरवाही से लीक हुआ। उनके खिलाफ अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई।

मोदी सरकार के इशारे पर काम करती है CBI

निगम भंडारी ने कहा कि CBI मोदी सरकार के इशारे पर काम करती है। ऐसे में इस मामले में CBI से निष्पक्ष जांच संभव नहीं है। खासकर जब प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने है और यह मामला सत्तारूढ़ भाजपा को सत्ता से बाहर खदेड़ने के लिए काफी है। लिहाजा इस मामले की जांच हाईकोर्ट के सिटिंग जज से करानी चाहिए। उन्होंने कहा कि पुलिस पेपर लीक से हिमाचल की साख देशभर में खराब हुई है।

75 हजार युवाओं से किया जा रहा खिलवाड़

प्रदेश के 75 हजार से अधिक युवाओं से खिलवाड़ किया गया है। उन्होंने कहा कि जयराम सरकार पेपर लीक की सरकार बन गई है। कभी JOA का पेपर लीक होता है, कभी कालेज में अंतिम वर्ष परीक्षा का पेपर तो कभी पुलिस का पेपर लीक किया जाता है। निगम भंडारी ने चेतावनी दी कि यदि DGP को जल्द पद से नहीं हटाया गया तो युवा कांग्रेस अपने आंदोलन को उग्र करेगी। इसकी जिम्मेदारी जयराम सरकार की रहेगी।