सफर / कृषि मंत्री ने रोहतांग मार्ग का निरीक्षण किया, शनिवार से लाहौल-स्पीति के लिए शुरू होंगी गाड़ियां

लाहौल स्पीति कृषि कार्य के लिए जाने वालों के लिए शनिवार से गाड़ियां चलाई जाएंगी।बीआरओ ने राहनीनाला तक रास्ता बहाल किया। लाहौल स्पीति कृषि कार्य के लिए जाने वालों के लिए शनिवार से गाड़ियां चलाई जाएंगी।बीआरओ ने राहनीनाला तक रास्ता बहाल किया।
X
लाहौल स्पीति कृषि कार्य के लिए जाने वालों के लिए शनिवार से गाड़ियां चलाई जाएंगी।बीआरओ ने राहनीनाला तक रास्ता बहाल किया।लाहौल स्पीति कृषि कार्य के लिए जाने वालों के लिए शनिवार से गाड़ियां चलाई जाएंगी।बीआरओ ने राहनीनाला तक रास्ता बहाल किया।

  • ऑनलाइन आवेदन करने वाले ही भेजे जाएंगे, दो स्थानों पर होगा मेडिकल चैकअप

  • बीआरओ ने मनाली-रोहतांग सड़क को राहनीनाला तक बहाल किया

दैनिक भास्कर

Apr 24, 2020, 06:42 PM IST

कुल्लू. कुल्लू में रह रहे लाहौल-स्पिति जिले के निवासियों को कृषि संबंधी कार्याें के लिए लाहौल घाटी तक पहुंचाने के लिए शनिवार से विशेष गाड़ियां आरंभ कर दी जाएंगी। शुक्रवार को अधिकारियों सहित मनाली-रोहतांग सड़क का निरीक्षण करने के बाद कृषि, सूचना प्रौद्योगिकी एवं जनजातीय विकास मंत्री डाॅ. रामलाल मारकंडा ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सीमा सड़क संगठन ने मनाली-रोहतांग सड़क को राहनीनाला तक बहाल कर दिया है। इसलिए लाहौलवासियों के लिए कुल्लू से सुबह 6 बजे छोटी गाड़ियां चलाई जाएंगी। फिलहाल, ये गाड़ियां राहनीनाला तक ही जाएंगी। इससे आगे लोगों को करीब 3 किलोमीटर पैदल चलना पड़ेगा। डाॅ. मारकंडा ने बताया कि ऑनलाइन आवेदन करने वाले लोग ही बारी-बारी से इन गाड़ियों में भेजे जाएंगे। यात्रियों की सूची हैलीकाप्टर लाइजनिंग अधिकारी तैयार करेंगे।

कृषि कार्य

कृषि मंत्री ने बताया कि मौसम की परिस्थितियों के अनुसार पाटन घाटी में कृषि कार्य पहले शुरू हो जाते हैं। इसलिए पहले दिन तांदी से तिंदी तक के लोग भेजे जाएंगे। इनके बाद अगले चरण में तिनन घाटी और उससे अगले चरण में अन्य घाटियों के लोग भेजे जाएंगे। सभी यात्रियों को अपना कोई पहचान पत्र, मतदाता कार्ड या आधार कार्ड साथ लाना होगा और उनके लिए मास्क अनिवार्य होगा। उन्हें सोशल डिसटेंसिंग का विशेष ध्यान रखना होगा।

मेडिकल चैकअप होगा

प्रत्येक व्यक्ति का पहले गुलाबा बैरियर पर मेडिकल चैकअप होगा और लाहौल घाटी में प्रवेश के बाद कोकसर में भी चैकअप किया जाएगा। डाॅ. मारकंडा ने लाहौलवासियों से अपील की है कि वे अपने साथ किसी भी बाहरी व्यक्ति या मजदूर को साथ न ले जाएं। अगर कोई इसका उल्लंघन करता हुआ पाया गया तो उसके खिलाफ एनएसए के तहत कड़ी कार्रवाई हो सकती है।

लोग सहयोग दें

डाॅ. मारकंडा ने कहा कि इस समय समूचा विश्व कोरोना महामारी से जूझ रहा है। केंद्र और प्रदेश सरकार के प्रयासों तथा आम जनता के सहयोग से हिमाचल के अधिकतर जिले कोरोनामुक्त हैं। लाहौल-स्पिति में इस स्थिति को कायम रखने के लिए सभी जिलावासी सहयोग करें और अपने साथ किसी भी बाहरी व्यक्ति को साथ न ले जाएं। इस अवसर पर कृषि मंत्री के साथ कुल्लू के क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी डाॅ. अमित गुलेरिया और मनाली के एसडीएम रमन घरसंगी भी उपस्थित थे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना