पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लापरवाही:खनेरी अस्तपाल आग की घटना से निपटने को नहीं तैयार, एडीसी ने किया अस्पताल का फायर ऑडिट

रामपुर बुशहर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

चार जिलों के लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं देने वाले खनेरी अस्पताल रामपुर में अगर आग की कोई बड़ी घटना होती है तो इससे निपटने के लिए तैयार नहीं है। 200 बिस्तरों वाले इस अस्पताल में फायर फाइटिंग सिस्टम के नाम पर केवल मात्र फायर इक्स्टिंगग्विशर ही लगे हैं। ऐसे में एक बार फिर खनेरी अस्पताल सवालों के घेरे में आ गया है। खनेरी अस्पताल में वीरवार को एडीसी शिमला किरण ने महात्मा गांधी सेवा चिकित्सा परिसर खनेरी का फायर ऑडिट किया, जहां पर उन्होंने बहुत सी खामिया पाई।

रामपुर में अतिरिक्त उपायुक्त ने इस बारे में अस्पताल प्रशासन के साथ बैठक आयोजित की, जबकि अग्निशमन विभाग वर्ष 2017 से इस बारे में अस्तपाल प्रशासन से बात कर रहा है, लेकिन इस पर कोई भी सकारात्मक कार्रवाई आज दिन तक नहीं हो पाई है।

अग्निशमन रामपुर के प्रभारी केशव सिंह नेगी ने बताया कि फायर फाइटिंग सिस्टम के तहत अस्पताल के समीप करीब डेढ़ लाख लीटर की पानी भंडारण क्षमता के टैंक का निर्माण किया जाना है और उसके बाद इसमें तीन पंप स्थापित किए जाने हैं। उन्होंने कहा कि इसके बाद अस्पताल परिसर में फायर हाइड्रेंट स्थापित होने हैं, ताकि आग की घटना में इसका इस्तमाल किया जा सके।

खनेरी अस्पताल में कुछ चीजें हुई हैं और कुछ होनी बाकी हैं। अस्पताल प्रशासन को निर्देश दिए हैं कि फायर फाइटिंग सिस्टम लगाने का काम समय रहते पूरा किया जाए, इसके लिए कुछ सुझाव भी दिए हैं।
किरण, एडीसी शिमला

खबरें और भी हैं...