समस्या / भुड्ड बैरियर से मोरपेन तक के मार्ग का कुछ हिस्सा नदी के बहाव से हुआ क्षतिग्रस्त, आवाजाही में परेशानी

Part of the route from Bhudd Barrier to Morpen damaged due to river flow, problems in movement
X
Part of the route from Bhudd Barrier to Morpen damaged due to river flow, problems in movement

  • औद्योगिक क्षेत्र बद्दी-बरोटीवाला-नालागढ़ के कई सड़क मार्गों की हालत खस्ता

दैनिक भास्कर

Jun 30, 2020, 08:30 AM IST

नालागढ़. औद्योगिक क्षेत्र बद्दी-बरोटीवाला-नालागढ़ के कई सड़क मार्गों की हालत खस्ता है। बीते साल हुई भारी बरसात में कई सड़कें प्रभावित हुई थी, जिनका काम आज तक नहीं हो पाया है। अब यह मार्ग एक बार फिर बारिश के पानी से प्रभावित होना शुरू हो गए है। नदी के साथ लगते भुड्ड बैरियर से ठाणा (मोरपेन रोड) मार्ग बारिश के बहाव के कटता जा रहा है। जिसकी अधिकारियों द्वारा सुध नहीं ली जा रही है, जिसके कारण एक बार फिर से बीते दिनों हुई बारिश से मार्ग काफी क्षतिग्रस्त होना शुरू हो गया है। नजदीक सुविधा कंपनी के पास सड़क का 40 फीसदी हिस्सा पानी के बहाव के गिरता जा रहा है।

इस मार्ग पर औद्योगिक इकाइयों की अधिक मूवमेंट रहती है, ऐसे में कभी भी कोई बड़ा हादसा घटित हो सकता है, क्योंकि सड़क का निचला हिस्सा कमजोर पड़ता जा रहा है। सड़क के नदी की तरफ वाले हिस्से में पत्थर रखते हुए खतरे का संदेश दिया जा रहा है। वहीं इसके अलावा वाहनों की क्रॉसिंग के लिए सड़क कम पड़ती जा रही है, जिसके कारण सड़क हादसों का भी खतरा सताता रहता है। अगर बीते बरसात के बाद प्रभावित हिस्से पर डंगा लगा दिया जाता तो आज सड़क पर आवाजाही बिल्कुल प्रभावित न होती।
मार्ग पर दो दर्जन से ज्यादा कंपनी: बद्दी-नालागढ़ एनएच पर भुड्ड बैरियर स्टेशन से गांव ठाणा की ओर जाने वाले मार्ग पर करीब दो दर्जन से अधिक कंपनी चल रही है। इन कंपनियों का अधिकतम स्टाफ व बसें इसी मार्ग से रोजाना अप-डाउन करती है। अगर यह मार्ग बारिश से पानी से पूरी तरह से प्रभावित हो जाता है तो इकाइयों की मूवमेंट पूरी तरह से रुक सकती है।
बिजली लाइन को खतरा: नदी के बहाव से हो रहे सड़क कटाव स‌े बिजली लाइन को भी खतरा बढ़ चुका है। बिजली पोल सड़क के किनारे लगा था वह भी नदी में गिरा चुका है। अगर जल्द से जल्द सड़क की मरम्मत व बिजली पोल लाइन को ठीक न किया गया तो आने वाले दिनों में औद्योगिक इकाइयों में बिजली की समस्या भी पैदा हो सकती है। 

  • सड़क मार्ग का 100 मीटर एरिया क्षतिग्रस्त हुआ है। उस पर प्रोटेक्शन वॉल लगाई जानी है। जिसका एस्टीमेट बनाकर अप्रुवल के लिए भेजा जा रहा है। वहीं इसके समीप ही लोनिवि द्वारा एक ब्रिज भी बनाया जाना है, जिसके चलते प्रोटेक्शन वॉल का काम लेट हो रहा है। क्योंकि ब्रिज का काम जब शुरू होगा तो प्रोटेक्शन वाल का कुछ हिस्सा उसके दायरे में आएगा। जिसके कारण प्रोटेक्शन वॉल नही लग पाई है।  -सतपाल सिंह, एक्सईएन, बीबीएनडीए

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना