• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Private schools will charge only tuition fees, buses will run in all districts from June 1 with 60 percent passengers.

कैबिनेट / निजी स्कूल लेंगे सिर्फ ट्यूशन फीस, पहली जून से सभी जिलों में चलेगी 60 प्रतिशत यात्रियों के साथ बसें

निजी स्कूल सिर्फ ट्यूशन फीस ही वसूल सकेंगे और वह भी पिछले वर्ष की तय की गई दरों पर ही ले पाएंगे। निजी स्कूल सिर्फ ट्यूशन फीस ही वसूल सकेंगे और वह भी पिछले वर्ष की तय की गई दरों पर ही ले पाएंगे।
X
निजी स्कूल सिर्फ ट्यूशन फीस ही वसूल सकेंगे और वह भी पिछले वर्ष की तय की गई दरों पर ही ले पाएंगे।निजी स्कूल सिर्फ ट्यूशन फीस ही वसूल सकेंगे और वह भी पिछले वर्ष की तय की गई दरों पर ही ले पाएंगे।

  • न बढ़ेगा कोई किराया और न ही चलेगी नाइट बसें
  • सोमवार से बिना पास के चल सकेंगी निजी वाहन और टैक्सियां

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 07:12 PM IST

शिमला. प्रदेश में कोई भी निजी स्कूल अब अभिभावकों से ट्यूशन फीस के अलावा अन्य कोई भी चार्ज नहीं वसूल सकेंगे। इसमें स्मार्ट क्लास, एसएमएस और ई-केयर, एनुअल चार्जेज और मिसलेनियस चार्जेज शामिल हैं जिन्हें निजी स्कूल  प्रबंधक नहीं वसूल सकेंगे। प्रदेश मंत्रिमंडल की बैठक में अभिभावकों को बड़ी राहत देते हुए सरकार ने मार्च से मई तक निजी स्कूलों को सिर्फ ट्यूशन फीस ही वसूलने को कहा है।

शनिवार को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में शिक्षा विभाग द्वारा लाए गए प्रस्ताव पर चर्चा के बाद निर्णय लिया गया कि निजी स्कूल सिर्फ ट्यूशन फीस ही वसूल सकेंगे और वह भी पिछले वर्ष की तय की गई दरों पर ही ले पाएंगे।

मंत्रिमंडल ने सभी स्कूलों से ऑनलाइन पढ़ाई जारी रखने को भी कहा है। फीस न दे पाने की स्थिति में कोई भी निजी स्कूल बच्चों की पढ़ाई को बीच में नहीं रोक पाएगा। कैबिनेट ने स्कूल प्रबंधनों को स्पष्ट किया है कि वह अपने सभी शिक्षक और गैर शिक्षक स्टाफ को पूरा वेतन दें, न किसी स्टाफ को  निकाला जाए और न ही किसी का वेतन काटा जाए। स्कूल प्रबंधकों को ट्यूशन फीस और अपने फंड से यह व्यवस्था करने को कहा गया है।  

जून से 60 प्रतिशत यात्रियों के साथ चलेंगी  बसें  
मंत्रिमंडल ने राज्य में पहली जून से 60 प्रतिशत यात्रियों के साथ बसों को चलाने की भी मंजूरी दे दी है। लेकिन राज्य के बाहर बसें फिलहाल नहीं चलेंगी। पहली जून से चलने वाली बस सेवाओं को भी नई शर्तों के साथ चलाने की मंजूरी दी गई है। इसमें सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा पालन करना होगा। हिमाचल के कंटेनमेंट जोन में बसें नहीं रोकी जाएगीं। न तो यहां से सवारियों को उठाया जाएगा और न ही यहां उतारा जाएगा। लेकिन कंटेनमेंट जोन से बसों की आवाजाही जारी रहेगी। 

नाइट बस सर्विस पूरी तरह से बंद

कैबिनेट ने नाइट बस सर्विस को पूरी तरह से बंद रखा है। एसी बसें और वॉल्वो बसें भी नहीं दौड़ेंगी। बस किराए में बढ़ोतरी की अटकलों पर विराम लगाते हुए कैबिनेट ने फिलहाल किराया बढ़ाने का कोई निर्णय नहीं लिया है। सोमवार से टैक्सी, निजी वाहन और आटो बिना पास के आ-जा सकेंगे। कैबिनेट ने रेहड़ी-फड़ी वालों को भी अपनी जगह पर बैठने की छूट दे दी है। उधर, सोमवार से नई गाइडलाइन के साथ सैलून और बारबर की दुकानें खोलने की भी मंजूरी दी है। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना