पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सराहनीय प्रयास:कोरोना पाॅजिटिव छात्रा के लिए फरिश्ता साबित हुए एसडीएम

नयनादेवीएक महीने पहलेलेखक: नीना शर्मा
  • कॉपी लिंक
  • बर्बाद होने से बच गया एक साल, स्वास्थ्य अधिकारियों से नहीं मिली अनुमति: सुभाष

कोविड-19 के मद्देनजर जारी गाइड लाइंस की अनुपालना सुनिश्चित करने के लिए सख्ती दिखाने वाले अधिकारी जरूरत पड़ने पर किसी के लिए फरिश्ता भी बन जाते हैं। नयनादेवी उपमंडल में ऐसा ही एक मामला सामने आया है। कोरोना की चपेट में आने की वजह से एक काॅलेज छात्रा की परीक्षा पर मंडराए संकट के बीच नयनादेवी के एसडीएम ने एक तरह से देवदूत की भूमिका निभाई।

स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा होम क्वारेंटाइन छात्रा को परीक्षा के लिए घर से जाने की अनुमति देने से इंकार करने पर परिजनों ने प्रशासन से संपर्क साधा। इसे गंभीरता से लेते हुए एसडीएम सुभाष गौतम ने छात्रा के लिए एंबुलेंस की व्यवस्था करवाकर परेशानी दूर कर दी। इससे छात्रा का एक साल बर्बाद होने से बच गया। जानकारी के अनुसार भाखड़ा पंचायत निवासी जगपाल सिंह और उमेश कुमारी की बेटी दिव्य ज्योति ऊना काॅलेज से एमए हिस्ट्री थर्ड सेमेस्टर की पढ़ाई कर रही है।

गत 23 मार्च को वह कोरोना पाॅजिटिव पाई गई, जिसकी वजह से उसे होम क्वारेंटाइन कर दिया गया था। समस्या यह थी कि 27 मार्च को उसका अंतिम पेपर होना बाकी था। इसमें उपस्थिति दर्ज न हो पाने की स्थिति में उसका एक साल बर्बाद होने का खतरा पैदा हो गया था। छात्रा के परिजनों ने भाखड़ा के स्वास्थ्य अधिकारी के साथ ही बीएमओ से भी संपर्क किया, लेकिन उन्होंने उसे परीक्षा के लिए ऊना भेजने की अनुमति देने में असमर्थता जता दी। बेटी के भविष्य को लेकर चिंतित परिजनों ने अंतिम प्रयास के तौर पर नयनादेवी के एसडीएम सुभाष गौतम से संपर्क साधा।

उन्होंने एसडीएम को पूरे मामले की विस्तार से जानकारी दी। छात्रा के भविष्य से जुड़े इस मसले को गंभीरता से लेते हुए एसडीएम ने एंबुलेंस की व्यवस्था करवाई। गत शनिवार को दिव्य ज्योति को एंबुलेंस में ऊना ले जाया गया। परीक्षा देने के बाद शाम के समय एंबुलेंस में ही उसे वापस घर भी पहुंचाया गया। इसके लिए उससे कोई किराया भी नहीं लिया गया। संकट की घड़ी में मिली इस मदद के लिए छात्रा और उसके परिजन एसडीएम को फरिश्ता मान रहे हैं। वे उन्हें दुआएं देते नहीं थक रहे हैं।

3 अप्रैल को हमीरपुर जिले में बंद रहेंगे सभी कार्यालय
जिला भर में 3 अप्रैल को सभी सरकारी कार्यालय, सार्वजनिक उपक्रम एवं स्वायत्तशासी संस्थाओं के कार्यालय बंद रहेंगे, ताकि कोरोना संक्रमण की श्रृंखला को तोड़ने में मदद मिल सके। सभी शैक्षणिक संस्थान जैसे स्कूल, कॉलेज, विश्वविद्यालय इत्यादि आगामी 4 अप्रैल, 2021 तक बंद रहेंगे। हालांकि जिन कक्षाओं की परीक्षाएं चल रही हैैं, वह मानक संचालन प्रक्रिया के तहत पूर्ववत जारी रहेंगी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- सकारात्मक बने रहने के लिए कुछ धार्मिक और आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करना उचित रहेगा। घर के रखरखाव तथा साफ-सफाई संबंधी कार्यों में भी व्यस्तता रहेगी। किसी विशेष लक्ष्य को हासिल करने ...

    और पढ़ें