• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • The First Phase Of Voting In The General Election Of Exiled Tibetans On 3 January, The Last Voting On 11 April

धर्मशाला:निर्वासित तिब्बतियों के आम चुनाव में पहले चरण की वोटिंग 3 जनवरी को, अंतिम चरण की वोटिंग 11 अप्रैल को होगी

धर्मशाला2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
निर्वासित तिब्बतियों के सिक्योंग पद के लिए और 17 वीं  तिब्बती संसदीय चुनावों के लिए चुनावी कैलेंडर की घोषणा कर दी गई - Dainik Bhaskar
निर्वासित तिब्बतियों के सिक्योंग पद के लिए और 17 वीं  तिब्बती संसदीय चुनावों के लिए चुनावी कैलेंडर की घोषणा कर दी गई
  • निर्वासित तिब्बती निर्वाचन आयोग निर्धारित समयावधि के अनुसार 2021 के आम चुनाव कराने के लिए प्रतिबद्ध

निर्वासित तिब्बतियों के सिक्योंग पद के लिए और 17वीं तिब्बती संसदीय चुनावों के लिए चुनावी कैलेंडर की घोषणा कर दी गई है। आम चुनाव के तहत प्रथम चरण की वोटिंग 3 जनवरी को होगी, जबकि अंतिम चरण की वोटिंग 11 अप्रैल 2021 को होगी।

इस संबंध में मुख्य चुनाव आयुक्त वांगडू त्सेरिंग पेसुर और दो अतिरिक्त चुनाव आयुक्तों गेशेमा डेलेक वांगमो और सोनम ग्यालत्सेन ने इसकी घोषणा प्रेस कॉन्फ्रेंस में की। इसके अनुसार, सिक्योंग के लिए प्रारंभिक चुनाव और 17वीं तिब्बती संसद के सदस्यों के लिए 3 जनवरी 2021 को और अंतिम चुनाव 11 अप्रैल 2021 को होना है।

चुनाव आयुक्त ने सिक्योंग चुनाव के लिए उम्मीदवारों को शॉर्टलिस्ट करने के लिए दिशा निर्देश भी जारी किया। उन्होंने कहा कि सबसे पहले, "चुनावी नियमों और विनियमन के अनुच्छेद 67(4) के मुताबिक, चुनाव आयोग को अपने प्रारंभिक परिणामों, ग्रीन बुक की बकाया राशि और प्रथम चरण में उम्मीदवारी के लिए मिले वोटों का प्रणाम पत्र के आधार पर चुनाव आयोग सिक्योंग के अंतिम चुनाव के लिए दो उम्मीदवारों को चुनेगा। यदि उम्मीदवार प्रारंभिक दौर में दूसरे सबसे अधिक मतों के बराबर मतदान करते हैं, तो तीन उम्मीदवारों को सिक्योंग चुनाव के लिए चुना जाएगा।

कोरोना काल के संकट से उपजी मौजूदा चुनौतियों के बावजूद, निर्वाचन आयोग कार्यालय निर्धारित समयावधि के अनुसार 2021 के आम चुनाव कराने के लिए प्रतिबद्ध है।

यह होंगे वोट देने के पात्र

निर्वासन में तिब्बतियों के चार्टर में निर्दिष्ट मतदाता पात्रता के मुताबिक, वोट देने के अधिकार से वंचित कानूनों के अधीन, सभी तिब्बती जिन्होंने 18 वर्ष की आयु प्राप्त कर ली है, वे मतदान के अधिकार के हकदार होंगे और तिब्बती ग्रीन बुक स्वीकार किया गया दस्तावेज है जिससे मतदाता की आयु साबित हो सके।

आम चुनावों को कुशलता पूर्वक संपन्न करने की अपनी पहल के तहत, चुनाव आयोग ने स्थानीय चुनाव आयोगों और जनता के लाभ के लिए कार्यशालाओं, ऑनलाइन प्रशिक्षण, इन्फोग्राफिक्स और ऑडियो निर्देशों की एक श्रृंखला आयोजित करने की घोषणा की। चुनाव आयुक्त वांगडू त्सेरिंग ने कहा कि तिब्बती समुदाय के लोगों से अनुरोध किया जाता है कि वे केंद्रीय तिब्बती प्रशासन द्वारा निर्धारित फीस का भुगतान करें और मतदान में पूर्ण भागीदारी सुनिश्चित करें।

खबरें और भी हैं...