• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • The Impact Of The News Of Dainik Bhaskar, The Only Sahara Wellness Health Center Of 5 Thousand Population Of 12 Villages In Himachal Opened Again, Got All This

दैनिक भास्कर की खबर का असर:हिमाचल में 12 गांवों की 5 हजार की आबादी का इकलौता सहारा वैलनेस हेल्थ सेंटर फिर खुला, मिला ये सब

धर्मशाला6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हिमाचल प्रदेश में कांगड़ा जिले के दुर्गम क्षेत्र छोटा भंगाल में कोविड से बचाव के लिए आवश्यक सामग्री उपलब्ध कराता सेहत विभाग का अमला। - Dainik Bhaskar
हिमाचल प्रदेश में कांगड़ा जिले के दुर्गम क्षेत्र छोटा भंगाल में कोविड से बचाव के लिए आवश्यक सामग्री उपलब्ध कराता सेहत विभाग का अमला।

दैनिक भास्कर के 18 मई के संस्करण में 'छोटा भंगाल के 12 गांवों की 5 हजार की आबादी का इकलौता सहारा वैलनेस हेल्थ सेंटर इन दिनों बंद, कोरोना टेस्ट के लिए 70 किमी दूर से आती है मोबाइल वैन' शीर्षक से प्रमुखता से समाचार प्रकाशित किया गया था। बुधवार को धर्मशाला प्रवास के दौरान मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कांगड़ा जिले के दुर्गम क्षेत्र छोटा भंगाल में कोविड से बचाव के लिए आवश्यक कदम उठाने के निर्देश प्रशासन को दिए गए थे। इसके चलते कांगड़ा जिला के छोटा भंगाल और बीड़ के पंचायत प्रतिनिधियों को जिला प्रशासन की ओर से PPE किट्स और आपातस्थिति के लिए दस आक्सीजन सिलेंडर पहुंचाए गए हैं। साथ ही कोविड के लिए कंट्रोल रूम भी स्थापित कर दिया गया है जबकि आक्सीजन की सुविधा सहित एक एंबुलेंस भी मुल्थान के लिए दी गई है।

दैनिक भास्कर में प्रमुखता से प्रकाशित समाचार।
दैनिक भास्कर में प्रमुखता से प्रकाशित समाचार।

इस संबंध में उपमंडलाधिकारी बैजनाथ धर्मेश धर्मोत्रा, विकास खंड अधिकारी तथा तहसीलदार ने बीड़ तथा छोटा भंगाल की विभिन्न पंचायतों में पहुंचकर स्थिति का जायजा भी लिया है। उल्लेखनीय है कि गत दिवस ही मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कांगड़ा जिला के दुर्गम क्षेत्र छोटा भंगाल में कोविड से बचाव के लिए आवश्यक कदम उठाने के निर्देश प्रशासन को दिए गए थे। जिसमें कोविड से बचाव के लिए सभी आवश्यक प्रबंध करने के निर्देश भी दिए गए थे। कांगड़ा के DC राकेश प्रजापति ने कहा कि मुल्थान क्षेत्र की विभिन्न पंचायतों में कोविड की निगरानी के लिए स्वास्थ्य विभाग को भी आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए थे। उन्होंने कहा कि आपात स्थिति के लिए मुल्थान में ही एंबुलेंस की तैनाती भी कर दी गई है तथा तीन सौ के करीब पीपीई किट्स उपमंडल प्रशासन के माध्यम से पंचायत प्रतिनिधियों को दी गई है तथा कंट्रोल रूम भी स्थापित कर दिया गया है जिसमें तहसीलदार की देखरेख में निगरानी सुनिश्चित की जाएगी। कंट्रोल रूम में आवश्यक सामग्री भी उपलब्ध करवाई गई है। उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि सरकार और प्रशासन कोविड से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है और सभी क्षेत्रों में आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए कारगर कदम उठाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिला तथा उपमंडल स्तर पर कंट्रोल रूम भी स्थापित किए गए हैं। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने लोगों का चेकअप किया और दवाइयां भी वितरित की गईं। उल्लेखीनय है कि दो दिन पहले छोटा भंगाल के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र तरमेड़ में चिकित्सक सहित पूरा स्टाफ कोविड से संक्रमित हो गए थे, जिसके चलते ही सरकार के निर्देशों पर स्वास्थ्य विभाग ने त्वरित कार्रवाई करते हुए छोटा भंगाल के लिए चिकित्सक और पैरा मेडिकल स्टाफ रवाना किया था। यह जानकारी देते हुए मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. गुरदर्शन गुप्ता ने जानकारी देते हुए कहा कि छोटा भंगाल में 62 लोगों को होम आईसोलेशन किट्स भी वितरित की गईं। इसके साथ ही 66 व्यक्तियों RT PCR टेस्ट किए गए हैं इनके सैंपल जांच के लिए भेज दिए गए हैं।

खबरें और भी हैं...