हिमाचल प्रदेश: लॉकडाउन-4 का छठा दिन / कोरोना संक्रमण के बढ़ते केसों में आज मंडी के एक ही परिवार के तीन व एक अन्य पॉजिटिव आए

कांगड़ा के डीसी ने क्वारंटाइन सेंटर का दौरा किया और वहां की व्यवस्था को देखा। कांगड़ा के डीसी ने क्वारंटाइन सेंटर का दौरा किया और वहां की व्यवस्था को देखा।
X
कांगड़ा के डीसी ने क्वारंटाइन सेंटर का दौरा किया और वहां की व्यवस्था को देखा।कांगड़ा के डीसी ने क्वारंटाइन सेंटर का दौरा किया और वहां की व्यवस्था को देखा।

  • चारों पॉजिटिव केस हाल ही में मुंबई से लौटे थे, अब प्रदेश में संख्या पहुंची 172
  • हमीरपुर के क्वारंटाइन सेंटरों में खाने-पीने का सामान खराब,कभी हरी सब्जी नहीं परोसी

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:45 PM IST

हमीरपुर. बाहरी राज्यों से आने वाले लोग अपने साथ कोरोना संक्रमण को भी साथ लेकर आए है जिससे कोरोना ग्राफ काफी बढ़ रहा है। एक समय प्रदेश कोरोना मुक्त होने में एक-दो कदम ही दूर रह गया था, लेकिन आज तीन दिनों में काफी संख्या में पॉजिटिव केसों के आने से अब 172 मामले हो गए है। अभी कई लोगों के लिए गए सैंपलों की रिपोर्ट आनी बाकी है जो मुंबई,गोवा व अन्य बाहरी राज्यों से आए है।

मंडी में आए 4 मामले

आज मंडी जिले में आए 4 पॉजिटिव केसों में तीन एक ही परिवार के मां,बेटी और बेटा है। जबकि एक अन्य सरकाघाट का रहने वाला है जिसे संस्थागत क्वारंटाइन सेंटरों में रखा गया था। अभी जितने भी पॉजिटिव मामले आए वे बाहर से आए है और जिन्हें प्रदेश में ट्रेन से उतरे ही क्वारंटाइन सेंटरों में रखा गया है। इस कारण अभी कुछ बचाव है। अगर इन्हें केवल मेडिकल कर के छोड़ दिया जाता तो प्रदेश में हालत खराब हो जाती।

अब तक 24 हजार से ज्यादा सैंपलों की जांच 

अभी तक प्रदेश में कोरोना संक्रमण के संदिग्ध मरीजों के 24250 सैंपलों की जांच की जा चुकी है। जिसमें से 172 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसमें से अभी 768 सैंपलों की रिपोर्ट अभी आनी है। इस समय प्रदेश में 106 एक्टिव केस है।मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की ओर से राज्य के लोगों को आश्वासन दिया गया है कि जिसकी भी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव होगी उसका पूरी तरह से इलाज किया जाएगा। उसके बाद ही उसे सेंटरों से उनके घर भेजा जाएगा।

राज्य में कई स्थानों पर क्वारंटाइन सेंटरों पर खाना सही नहीं मिलता

हमीरपुर के सेंटरों में कोई मीनू चार्ट नहीं,हरी सब्जी एक दिन भी नहीं मिली

(विक्रम ढटवालिया). डॉक्टरों का मानना है कि कोरोनावायरस के इलाज में हेल्दी भोजन का बहुत अहम रोल होता है पर यह हमीरपुर के क्वारेंटाइन सेंटरों में लोगों को हेल्दी खाना नहीं दिया जा रहा है। बाहरी राज्यों से यहां लौटे लोग क्वारेंटाइन सेंटरों में खानपान और अन्य सुविधाओं की व्यवस्थाओं पर सवाल उठा रहे हैं। कई जगह के तो अब वीडियो भी वायरल होने लगे हैं।

एक दिन भी हरी सब्जी नहीं

दियोटसिद्ध स्थित बाबा बालक नाथ मंदिर ट्रस्ट की सराय में बनाए गए क्वारेंटाइन सेंटर में भी पिछले 4 दिन से जिस स्तर का खाना वहां ठहरे करीब 5 दर्जन से ज्यादा लोगों को परोसा जा रहा है, उसे हेल्दी डाइट नहीं कहा जा सकता। शुक्रवार को इन लोगों के रुके होने का चौथा दिन था। लेकिन एक भी दिन उन्हें हरी सब्जी नहीं परोसी गई है। सारी व्यवस्था कामचलाऊ है, यानी लंगर में दाल, कड़ी, चावल-चपाती और राज माह बनाए जाने की जो परंपरा है, उसी पर काम हो रहा है। ब्रेकफास्ट में खाली ब्रेड पीस और चाय परोसी जा रही है।

डुग्घा: 13 मरीजों को 2 शौचालय, सफाई व्यवस्था भी सही नहीं 
डुग्घा में स्थित जिस जिला कोविड-19 संस्थान में पॉजिटिव मरीजों को रखा गया है वहां की वीडियो भी वायरल हो रही है। शुक्रवार को वहां 13 मरीज रखे गए थे, लेकिन इनके लिए केवल दो बाथरूम-शौचालय हैं। जिनकी भीतर रहने वाले मरीज अच्छी खासी कमी जता रहे थे। इन शौचालय में पानी की व्यवस्था प्रॉपर नहीं है और साफ सफाई की शिकायत भी वे कर रहे थे।

बडू: सोशल डिस्टेंसिंग भूल एक कमरे में ही ठहराए 4-4 लोग

बडू में स्थित जिस क्वारेंटाइन सेंटर पर एक एक कमरे में चार-चार लोगों को ठहराया गया है,उस पर भी स्वास्थ्य विभाग सवाल उठा रहा है। वजह यह है कि रेड जोन से आने वाले इन लोगों को अच्छे खासे फासले में ठहराया जाना चाहिए।  क्योंकि एक पॉजिटिव मरीज पाए जाने पर दूसरे साथ ठहरने वालों के लिए भी संक्रमित होने का खतरा बढ़ गया है।

दियोट सिद्ध: एक संक्रमित बाकी लाेगों को भी खतरा
दियोट सिद्ध  स्थित जिस सराय भवन के हॉल में एक संक्रमित पाया गया है। उससे अब अन्य  पांचों लोगों के लिए भी मुसीबत खड़ी हो गई है। उनके फिर से कोरोना टेस्ट होंगे।

मीनू तैयार

बाबा बालक नाथ मंदिर ट्रस्ट के टेंपल ऑफिसर ओपी लखनपाल का कहना है कि मीनू तैयार हो गया है। ट्रस्ट के चेयरमैन और बड़सर के एसडीएम से चर्चा करके इसे लागू किया जा रहा है। 

बेवजह सवाल

इधर दुग्गा के जिला कोविड-19 सेंटर के नोडल अधिकारी डॉ. आरके अग्निहोत्री का कहना है कि बेहतर व्यवस्था बनाने के प्रयास किए गए हैं। लेकिन कुछ लोग बेवजह ही व्यवस्थाओं पर सवाल उठा रहे हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना