विरोध प्रदर्शन / यूथ कांग्रेस के सदस्यों ने रस्सी से गाड़ी को खींचकर पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों का विरोध किया

कांग्रेसी वर्करों ने गाड़ियाें को रस्सी बांध कर खींचा। वे तेल की बढ़ती कीमतों का विरोध कर रहे थे। फोटाे सतनाम गिल
X

  • कांग्रेसी वर्करों ने कहा, अगर सरकार ने रेट कम नहीं किए तो उग्र प्रदर्शन किए जाएंगे

दैनिक भास्कर

Jun 30, 2020, 04:00 PM IST

शिमला. शिमला में मंगलवार को कांग्रेस कार्यालय से बस स्टैंड तक रस्सियों के बांध कर गाड़ियों को कांग्रेसी वर्करों की ओर से खींचा जा रहा था। नंगे बदन विरोध प्रदर्शन कर रहे इन लोगों का कहना था कि जिस तरह से केंद्र सरकार तेलों के रेट को बढ़ा रही है उससे हर वर्ग परेशान हो रहा है। तेज धूप में गाड़ियाें को रस्सी से खींचते कांग्रेसी वर्कर पसीने से तर-बतर थे। 

शिमला में कांग्रेस कार्यालय से बस स्टेंड तक गाड़ियों को रस्सी से खींचते कांग्रेसी वर्कर। 

गाड़ियों को खींच कर विरोध जताया

गाड़ी को खींचकर अलग तरीके से बढ़ते पेट्रोल व डीजल के दामों का विरोध किया। नंगे बदन गाड़ी को खींचकर यूथ कांग्रेस वर्करों ने जनता की लाचारी के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार जिस तरह से तेलों के रेट को बढ़ा रही है उससे लोगों के साथ-साथ किसानों व बागवानों पर भी असर पड़ेगा। कांग्रेसी वर्करों ने कहा कि बढ़ते पेट्रोल के दामों ने जनता की कमर तोड़ के रख दी है।

शिमला में बढ़ती तेल की कीमतों का विरोध करते कांग्रेसी वर्कर। गाड़ियों को रस्सी से बांध कर खींचा।

कच्चे तेल की कीमत कम

यूथ कांग्रेस शिमला अध्यक्ष वीरेंदर बशटू ने बताया कि पिछले 21 दिनों से लगातार पेट्रोल व डीजल की कीमतों में वृद्धि हो रही है। जिससे हर वर्ग पर इसका व्यापक असर पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि इतिहास में ये पहली बार हुआ है कि डीजल की कीमतें पेट्रोल से भी अधिक हो गई है जबकि कच्चे तेल की कीमतें बहुत कम है। अगर सरकार ने पेट्रोल व डीजल की कीमतों को कम नही किया तो यूथ कांग्रेस उग्र प्रदर्शन करेगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना