पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

विवाद:कोरोना में नहीं लग रही कक्षाएं, फिर भी ट्रिपल आईटी में गेस्ट फैकल्टी में रख दिए हैं 14 कर्मी

हमीरपुर3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • नॉन टीचिंग स्टाफ पहुंच रहा है दफ्तर, फैकल्टी बैठी है घर, इस व्यवस्था पर उठ रहे हैं सवाल

व्यवस्थागत कारगुजारियों को लेकर ऊना स्थित ट्रिपल आईटी भी अब विवादों से घिरने लगा है। वजह यह है कि कोरोना काल के दौरान 14 लोग ऑनलाइन सिस्टम के जरिए भर्ती कर लिए गए। वह भी गेस्ट फैकल्टी का नाम देकर। जबकि इनमें 3 लोग ऐसे हैं जिनकी नियुक्ति शुरू होने वाले फर्स्ट ईयर की क्लासेज के लिए हो चुकी है। यही नहीं यह तमाम गेस्ट फैकल्टी के लोग 60 और 75 हजार प्रति माह के वेतन पर भर्ती हो चुके हैं।

यही नहीं सारी की सारी गेस्ट फैकल्टी दूरदराज अपने घर में बैठी है। ऑनलाइन क्लासेज या पढ़ाई वहीं से हो रही है। लेकिन जिन नए लोगों की भर्ती हुई है। उनके पास तो अभी काम भी नहीं है। क्योंकि नए नवेले इस संस्थान में मौजूदा स्टाफ के पास पर्याप्त काम का बोझ भी नहीं है। ऐसे में जिन नॉन टीचिंग स्टाफ को मुकम्मल तौर पर ऑफिस बुलाया जा रहा है उनमें अंदर ही अंदर कई तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं हो भी क्यों न क्योंकि बहुत कम सैलरी पर यह नान टीचिंग स्टाफ रखा है।

भले ही उसका भविष्य कोई न हो। यह बात अलग है कि इस ट्रिपल आईटी में डायरेक्टर के अलावा सारा स्टाफ अस्थाई है। अनुबंध पर है और कोई भी स्थाई नहीं है। सूत्रों के मुताबिक ऊना के सलोह में स्थित संस्थान के जिस नए भवन का निर्माण हो रहा है, उसमें वर्ष 2021 में क्लासेस बैठाने की व्यवस्था हो जाएगी। मगर जिस प्राइवेट भवन में अभी क्लासेज चल रही हैं, वहां से तीन चार लोगों को नौकरी से निकाल दिया गया है।

संस्थान हिमाचल में है और क्लासेज पंजाब में लगेंगी: इस संस्थान की सबसे बड़ी विडंबना यह है कि इसकी शुरुआत हमीरपुर स्थित एनआईटी के कैंपस से हुई है। यानी ट्रिपल आईटी का पहला कैंपस हमीरपुर एनआईटी में है। दूसरा ऊना के एक निजी भवन में, मगर अब तीसरे कैंपस के रूप में रोपड़ के नाइलेट संस्थान में एक साल के लिए फर्स्ट ईयर की क्लासेज बैठाने की तैयारी लगभग मुकम्मल हो गई है।

संस्थान हिमाचल में है और क्लासेज पंजाब में बैठेंगी। यह बात किसी की समझ में नहीं आ रही। क्या हिमाचल में कोई भी ऐसा भवन ट्रिपल आईटी को नहीं मिल रहा, जहां केवल एक साल की व्यवस्था होनी है। सवाल इसीलिए हो रहा है, क्योंकि वहां पर तकरीबन ₹9 लाख प्रति माह के हिसाब से किराया दिया जाएगा। संस्थान की मंसा आखिर क्या है? यही सवाल विवादों से घिरा है। जिस कारण हिमाचल से बाहर पंजाब में तीसरा कैंपस बनाने की जिद पाली हुई है।

एनआईटी हमीरपुर से फर्स्ट ईयर की क्लासेस चलाने के लिए मामला उठाया था कि एक और भवन जितना स्थान चाहिए वह दे दें, लेकिन उन्होंने साफ मना कर दिया। ऊना में ऐसी जगह कोई मिल नहीं रही। इसीलिए रोपड़ के नायलेट को फिलहाल चिन्हित किया है। इस पर 8 या 9 लाख प्रतिमाह किराया तय किया है। अभी हालात पर नजर है, जरूरी हुआ तभी वहां शुरू करेंगे। रही बात ऑनलाइन गेस्ट फेकल्टी की भर्ती के मामले की, उसमें नियमों के तहत सारा काम हुआ है।और इसकी जरूरत थी, इसीलिए भर्ती की गई है। ऑनलाइन क्लासेज घर से ही लग रही हैं, क्योंकि गाइडलाइन ही ऐसी है और जिन चार लोगों को ऊना कैंपस से बाहर करने की बात कही जा रही है, जैसे ही हालात ठीक होंगे वे आ जाएं। इसलिए निकाले नहीं हैं। अमरजोत नाथ गिल, रजिस्टार ट्रिपल आईटी

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज उन्नति से संबंधित शुभ समाचार की प्राप्ति होगी। धार्मिक और आध्यात्मिक कार्यों में भी कुछ समय व्यतीत होगा। किसी विशेष समाज सुधारक का सानिध्य आपके अंदर सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न करेगा। बच्चे त...

और पढ़ें