सुविधा:हमीरपुर डिग्री कॉलेज में बीसीए के स्टूडेंट्स को कई साल पुराने कंप्यूटरों से मिलेगा छुटकारा, नए के लिए 30 लाख रुपए मंजूर

हमीरपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पीजी कॉलेज हमीरपुर का कैंपस। - Dainik Bhaskar
पीजी कॉलेज हमीरपुर का कैंपस।
  • लैब में पुराने कंप्यूटर होने से स्टूडेंट्स को सिखाने में आ रही है कई तरह की समस्याएं

पीजी कॉलेज हमीरपुर में बीसीए के स्टूडेंट्स को सालों पुराने कंप्यूटरों से जल्द छुटकारा मिलेगा। लैब में पुराने कंप्यूटर होने से स्टूडेंट्स को सिखाने में, कंप्यूटर पर काम करने में कई तरह की दिक्कतें पेश आ रही थी। वहीं कंप्यूटरों में खराबी आने पर बार-बार रिपेयर पर खर्च हो रहा था। इन सभी समस्याओं से अब कॉलेज प्रबंधन को छुटकारा मिल जाएगा।

काबिलेगौर है कि कॉलेज प्रबंधन कंप्यूटर लैब के कायाकल्प पर 20 लाख रुपए डायरेक्टर की मंजूरी के बाद अपने फंड से खर्च कर रहा है ताकि स्टूडेंट्स के लिए कंप्यूटर लैब में नए और आधुनिक सुविधाओं वाले कंप्यूटर नसीब हो सकें। लैब में रिपेयर का कार्य भी हो सके। गठित परचेसिंग कमेटी ने नए कंप्यूटर खरीदने के लिए प्रक्रिया शुरू कर दी है।

शीघ्र ही नए कंप्यूटर लैब में स्टूडेंट्स को उपयोग करने के लिए मुहैया हो जाएंगे। कॉलेज में 3 नवंबर से स्टूडेंट्स की रेगुलर कक्षाएं शुरू हो रही है। सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करने के लिए स्टूडेंट्स को कक्षा वाइस आने के लिए दो दो दिन तय कर दिए गए हैं। ताकि कॉलेज में ज्यादा भीड़ इकट्ठे न हो और कक्षाओं में भी खुला स्पेस रखा जा सके।

रेगुलर कक्षाएं शुरू होने से अब कॉलेज प्रबंधन ने क्लास रूम को रेगुलर सेनेटाइज करने का निर्देश मुताबिक बीड़ा भी उठा लिया है। सोमवार से आने वाले स्टूडेंट्स की सुरक्षा के लिए सभी तैयारियां कर ली गई हैं। साथ में कॉलेज ने स्टूडेंट्स को अपने पेरेंट्स से कॉलेज आने की सहमति लिखित में लाने के निर्देश भी दिए हैं।

खबरें और भी हैं...