आत्महत्या का प्रयास:उत्तर प्रदेश से आए श्रद्धालु ने बज्रेश्वरी माता मंदिर के हवन कुंड में लगाई छलांग, 40 फीसदी झुलसा

कांगड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कारण-कुलदेवी के पास जाकर अपनी जिंदगी खत्म चाहता था मनफूल, अस्पताल में चल रहा इलाज। - Dainik Bhaskar
कारण-कुलदेवी के पास जाकर अपनी जिंदगी खत्म चाहता था मनफूल, अस्पताल में चल रहा इलाज।

बज्रेश्वरी मंदिर स्थित अपने कुलदेवी के यहां माथा टेकने आए मैनपुरी उत्तर प्रदेश के 68 साल के मनफूल सिंह ने मंदिर परिसर के हवन कुंड में कूद कर जान देने की कोशिश की। इससे मंदिर परिसर में अफरा-तफरी मच गई। हवन कुंड में चीखने की आवाजें आने लगी। मौके पर पूजा पाठ करवा रहे पुजारियों और स्थानीय श्रद्धालुओं ने हवन कुंड से मनफूल सिंह को बाहर निकाला। तब तक उसके टांगें, बाजू और शरीर का 40% से ज्यादा हिस्सा जल चुका था।

मनफूल को घायल अवस्था में सिविल अस्पताल कांगड़ा में भर्ती करवाया गया। घायल मनफूल सिंह ने बताया कि मैं अपनी कुलदेवी के पास जाकर अपनी जिंदगी समाप्त करना चाहता था। पूजा करते करते कब हवन कुंड में पहुंच गया पता ही नहीं चला। मैनपुरी से अन्य श्रद्धालुओं साथ बस में आए मनफूल के परिजनों को पुलिस ने सूचना दे दी है।

सिविल अस्पताल कांगड़ा के एसएमओ डॉक्टर विवेक सूद ने बताया कि श्रद्धालु मनफूल सिंह की टांगे बाजू और पीठ झुलस गई है और 40 फीसदी से ज्यादा हिस्सा का जल चुका है अस्पताल में उपचार शुरू है। मौका पर पहुंचे पुलिस थाना प्रभारी भरत भूषण ने बताया कि मनफूल सिंह के बयान पुलिस दर्ज कर रही है और पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

खबरें और भी हैं...