पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कृषि:चार साल के बाद फिर सौ रुपए से अधिक बिका लहसुन

कुल्लूएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
किसान अपने खेतों में तैयार हुई लहसुन की ग्रेडिंग और पैकिंग करते हुए
  • किसानों को मिल रहे हैं अच्छे दाम, मालामाल, इससे पहले वर्ष 2016-17 में बिका था 110 रुपए प्रति किलो

कुल्लू में चार सालों के बाद फिर लहसुन सौ रुपए पार पहुंचा है। किसानों को लहसुन के अच्छे दाम मिल रहे हैं हालांकि इस बार पिछले वर्षों की अपेक्षा कम क्षेत्रफल में लहसुन का उत्पादन किया है लेकिन किसानों को लहसुन के रेट अच्छे खासे मिल रहे हैं। इस बार लहसुन के दाम किसानों को 130 रुपए तक मिल रहे हैं। जिससे किसान खूब मालामाल हो रहे हैं। पिछले चार सालों के अंकड़ों पर नजर साबित तो वर्ष 2016-17 में लहसुन के अधिकतम रेट 110 रु. तक मिले थे। वर्ष 2017-18 में अधिकतम 60 रुपए, जबकि वर्ष 2018-19 में 10 रुपए से लेकर 30 रु. तक बिका था ।

तमिलनाडू जा रहा है कुल्लू का लहसुन
कुल्लू जिला में उत्पन्न होने वाला लहसुन तमिलनाडु की मार्केट में जा रहा है। तमिलनाडु में लहसुन की अच्छी खासी मार्केट है जिसके चलते कुल्लू जिला का लहसुन भी तमिलनाडु जा रहा है। बीते दो दिनों की ही बात करें तो किसानों को अपने लहसुन उत्पाद के 81 रुपए से लेकर 138 रुपए तक के दाम मिले हैं।

खेतों में पहुंच रहे हैं व्यापारी

किसानों के लहसुन उत्पाद को खरीदने के लिए व्यापारी खेतों में ही पहुंच रहे हैं। व्यापारी गांव गांव जाकर किसानों के लहसुन उत्पाद का खेतों में ही सौदा कर रहे हैं जिसका किसानों को काफी फायदा पहुंच रहा है और किसानों को अपने लहसुन उत्पादन को बाजार तक लाने का खर्चा भी नहीं करना पड़ रहा है। ऐसे में किसानों को इस बार लहसुन उत्पाद फायदेमंद साबित हुआ है। जबकि पिछले दो सालों में किसानों के लिए लहसुन उत्पादन घाटे का सौदा रहा था।

यहां लोगों ने उगाई है सबसे ज्यादा लहसुन

जिला कुल्लू मुख्यालय के साथ लगती लगवैली में किसानों ने जमकर लहसुन की खेती कर रखी है। इसके अलावा खराहल घाटी, काईस, रायसन, बंदरोल, भुंतर, शमशी, मणिकर्ण घाटी, सैंज घाटी, बंजार और आनी के कई हिस्सों में लहसुन की खेती कर रखी है। लगवैली की भुटटी के किसान दलीप ठाकुर, नीलम, दौलत राम, बालक राम, दिनेश कुमार, पवन कुमार का कहना है कि उन्होंने इस बार लहसुन की काफी अच्छी खेती कर रखी है और इन दिनों उन्होंने अपने लहसुन उत्पाद को खेतों से निकाल दिया है और इसके दाम भी अच्छे खासे मिले हैं। उनका कहना है कि उन्हें  प्रति किलोग्राम के हिसाब से 120 से लेकर 138 रुपए तक मिले हैं जो किसानों के लिए काफी अच्छा दाम है। हालांकि पिछले दो सालों में उन्हें लहसुन के अच्छे दाम नहीं मिल पाए थे।

इस बार लहसुन के दाम किसानों को अच्छे मिल रहे हैं। जिससे किसानों को निश्चित रूप से फायदा मिल रहा है। इस बार लहसुन के दाम सौ पार पहुंचे हैं हालांकि इससे पहले वर्ष 2016-17 में लहसुन के दाम 110 रुपए तक जा पहुंचे थे लेकिन उसके बाद अब वर्ष 2020-21 वर्ष में लहसुन के दाम 130 रुपए पार तक जा पहुंचे हैं। किसानों को 138 रुपए तक भी लहसुन के रेट मिले हैं।- सुशील गुलेरिया, सचिव, एपीएमसी कुल्लू एवं लाहौल स्पीति

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। वैसे भी आज आपको हर काम में सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे। इसलिए पूरी मेहनत से अपने कार्य को संपन्न करें। सामाजिक गतिविधियों में भी आप...

और पढ़ें