10 PHOTOS, देखिए बर्फ पर हॉकी खेलती लड़कियां:माइनस 19 डिग्री में तैयारी करती हैं, तब बनती हैं स्की शू पहनकर देश के लिए खेलने लायक

काजा/लाहौल स्पीति8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

आपने बर्फ में स्कीइंग की होगी, लोगों को स्कीइंग करते देखा होगा, लेकिन कभी स्की शू पहनकर हाॅकी खेलते हुए किसी को देखा है। बेहद रोमांचक होते हैं वे पल, जब माइनस में तापमान हो और स्की शू पहनकर लड़कियां हॉकी खेल रही हों। ऐसा हुआ लाहौल स्पीति के काजा में, जहां रविवार को 9वीं राष्ट्रीय महिला आइस हॉकी चैंपियनशिप 2022 का आगाज हुआ। यह प्रतियोगिता 20 जनवरी तक चलेगी। राष्ट्रीय स्तर की इस प्रतियोगिता में हिमाचल प्रदेश, तेलगांना, चंडीगढ़, दिल्ली, आईटीबीपी लद्दाख और लद्दाख की टीमें शामिल हैं।

पहली बार राष्ट्रीय प्रतियोगिता का आयोजन किया गया है। इस दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम, डांस ऑन आइस, रावमापा काजा की छात्राओं द्वारा लोक नृत्य और एक आइस हॉकी मैच पुरुष और महिला टीमों के बीच देखने को मिला। इसके अलावा आर्मी बैंड की ओर से विशेष प्रस्तुति भी दी गई। बता दें कि आइस हॉकी खेलने के लिए माइनस 10 डिग्री के तापमान में तैयारी की जाती है, तब जाकर देश के लिए आइस हॉकी खेलने वाले खिलाड़ी तैयार होते हैं। तस्वीरों में देखिए आइस हॉकी खेलती लड़कियां....

राष्ट्रीय स्तर की महिला आइस हॉकी चैंपियनशिप 2022 का आगाज मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने किया। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा है कि सरकार खेलों को, विशेषकर शीतकालीन खेलों को भी बढ़ावा देने के क्षेत्र में काम कर रही है।
राष्ट्रीय स्तर की महिला आइस हॉकी चैंपियनशिप 2022 का आगाज मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने किया। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा है कि सरकार खेलों को, विशेषकर शीतकालीन खेलों को भी बढ़ावा देने के क्षेत्र में काम कर रही है।
आइस हॉकी शीतकालीन प्रमुख खेलों में से एक हैं। इस तरह की खेलों से विंटर टूरिज्म को बढ़ावा मिलेगा और इसलिए बफीर्ले क्षेत्रों में इन खेलों को बढ़ावा दिया जाना चाहिए। यह खेल उत्तराखंड, लद्दाख, कशमीर और अन्य हिमालयी क्षेत्रों में पर्यटन को और ज्यादा बढ़ावा दे सकता है।
आइस हॉकी शीतकालीन प्रमुख खेलों में से एक हैं। इस तरह की खेलों से विंटर टूरिज्म को बढ़ावा मिलेगा और इसलिए बफीर्ले क्षेत्रों में इन खेलों को बढ़ावा दिया जाना चाहिए। यह खेल उत्तराखंड, लद्दाख, कशमीर और अन्य हिमालयी क्षेत्रों में पर्यटन को और ज्यादा बढ़ावा दे सकता है।
चैम्पियनशिप के लिए माइनस 10 डिग्री के तापमान में रिंक तैयार किया गया और उसके बाद 20 दिनों तक यहां महिला खिलाड़ियों ने इसी तापमान में आइस हॉकी के गुर सीखे, तब लड़कियां प्रतियोगिता में भाग लेने लायक बनीं।
चैम्पियनशिप के लिए माइनस 10 डिग्री के तापमान में रिंक तैयार किया गया और उसके बाद 20 दिनों तक यहां महिला खिलाड़ियों ने इसी तापमान में आइस हॉकी के गुर सीखे, तब लड़कियां प्रतियोगिता में भाग लेने लायक बनीं।
लाहौल स्पीति में वर्ष 2019 से आइस के लिए बच्चों को प्रशिक्षित किया जा रहा है। पिछले साल यहां की बेटियों ने राष्ट्रीय प्रतियोगिता में कांस्य पदक जीता था, इसलिए राष्ट्रीय प्रतियोगिता की मेजबानी काज़ा को मिली है।
लाहौल स्पीति में वर्ष 2019 से आइस के लिए बच्चों को प्रशिक्षित किया जा रहा है। पिछले साल यहां की बेटियों ने राष्ट्रीय प्रतियोगिता में कांस्य पदक जीता था, इसलिए राष्ट्रीय प्रतियोगिता की मेजबानी काज़ा को मिली है।
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर आइस हॉकी को लेकर काफी उत्साहित रहते हैं। वे प्रदेश में आइस हॉकी को बढ़ावा देने के लिए अकसर खिलाड़ियों को और प्रशासन अधिकारियों को प्रयास करने के निर्देश देते हैं। उनका मानना है कि आइस हॉकी इंटरनेशनल स्तर का खेल बनना चाहिए।
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर आइस हॉकी को लेकर काफी उत्साहित रहते हैं। वे प्रदेश में आइस हॉकी को बढ़ावा देने के लिए अकसर खिलाड़ियों को और प्रशासन अधिकारियों को प्रयास करने के निर्देश देते हैं। उनका मानना है कि आइस हॉकी इंटरनेशनल स्तर का खेल बनना चाहिए।
25 दिसंबर 2021 से नेशनल आइस हॉकी डेवलपमेंट कैंप का आयोजन हुआ था, जिसका समापन 15 जनवरी को हुआ है। इस कैंप में कुल 80 खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया था और अगले ही दिन से नेशनल चैम्पियनशिप शुरू हो गई।
25 दिसंबर 2021 से नेशनल आइस हॉकी डेवलपमेंट कैंप का आयोजन हुआ था, जिसका समापन 15 जनवरी को हुआ है। इस कैंप में कुल 80 खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया था और अगले ही दिन से नेशनल चैम्पियनशिप शुरू हो गई।
आइस हॉकी कनाडा, मध्य और पूर्वी यूरोप, नॉर्डिक देशों, रूस और संयुक्त राज्य अमेरिका में सबसे लोकप्रिय है। अंतर्राष्ट्रीय आइस हॉकी महासंघ बर्फ हॉकी से सम्बंधित कार्यक्रमों की देखरेख एवं आयोजन करता है। आइस हॉकी कनाडा का आधिकारिक राष्ट्रीय शीतकालीन खेल है।
आइस हॉकी कनाडा, मध्य और पूर्वी यूरोप, नॉर्डिक देशों, रूस और संयुक्त राज्य अमेरिका में सबसे लोकप्रिय है। अंतर्राष्ट्रीय आइस हॉकी महासंघ बर्फ हॉकी से सम्बंधित कार्यक्रमों की देखरेख एवं आयोजन करता है। आइस हॉकी कनाडा का आधिकारिक राष्ट्रीय शीतकालीन खेल है।
शीतकालीन ओलिम्पिक खेलों में आइस हॉकी प्रमुख खेलों में से एक होता है। बेलारूस, क्रोएशिया, चेक गणराज्य, फिनलैंड, लातविया, रूस, स्लोवाकिया, स्वीडन और स्विटजरलैंड में भी आइस हॉकी सबसे लोकप्रिय शीतकालीन खेल है। उत्तरी अमेरिका की नेशनल हॉकी लीग (NHL) पुरुषों की आइस हॉकी के लिए उच्चतम स्तर की और दुनिया की सबसे मजबूत पेशेवर आइस हॉकी लीग है।
शीतकालीन ओलिम्पिक खेलों में आइस हॉकी प्रमुख खेलों में से एक होता है। बेलारूस, क्रोएशिया, चेक गणराज्य, फिनलैंड, लातविया, रूस, स्लोवाकिया, स्वीडन और स्विटजरलैंड में भी आइस हॉकी सबसे लोकप्रिय शीतकालीन खेल है। उत्तरी अमेरिका की नेशनल हॉकी लीग (NHL) पुरुषों की आइस हॉकी के लिए उच्चतम स्तर की और दुनिया की सबसे मजबूत पेशेवर आइस हॉकी लीग है।
आइस हॉकी रिंक कृत्रिम रूप से बर्फ से बना होता है। यह आयताकार मैदान होता, जिस प्रकार साधारण हॉकी के मैदान में दोनों तरफ दो गोल पोस्ट बनी होती हैं। उसी प्रकार बर्फ हॉकी में भी दो गोल पोस्ट बनी होती हैं।
आइस हॉकी रिंक कृत्रिम रूप से बर्फ से बना होता है। यह आयताकार मैदान होता, जिस प्रकार साधारण हॉकी के मैदान में दोनों तरफ दो गोल पोस्ट बनी होती हैं। उसी प्रकार बर्फ हॉकी में भी दो गोल पोस्ट बनी होती हैं।
आइस हॉकी से भी ज्यादा दिलचस्प है स्की शू पहनकर लोकनृत्य करना। लाहौल स्पीति में लोग न सिर्फ आइस हॉकी खेलने में, बल्कि वहां की महिलाएं स्की शू पहनकर डांस करने में भी पारंगत हैं, जिसका जीता जागता उदाहरण चैम्पियनशिप के उद्घाटन समारोह में देखने को मिला।
आइस हॉकी से भी ज्यादा दिलचस्प है स्की शू पहनकर लोकनृत्य करना। लाहौल स्पीति में लोग न सिर्फ आइस हॉकी खेलने में, बल्कि वहां की महिलाएं स्की शू पहनकर डांस करने में भी पारंगत हैं, जिसका जीता जागता उदाहरण चैम्पियनशिप के उद्घाटन समारोह में देखने को मिला।