बर्फबारी से पर्यटक की मौत:सरचू में ऑक्सीजन की कमी की वजह से तोड़ा दम, कुंजुम दर्रे से 7 सैलानियों को किया गया रेस्क्यू

कुल्लूएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सैलानियों का रेस्क्यू ऑपरेशन चलाते हुए। - Dainik Bhaskar
सैलानियों का रेस्क्यू ऑपरेशन चलाते हुए।

हिमाचल प्रदेश में रविवार को हुई बारिश और बर्फबारी के बीच सरचू में एक सैलानी की मौत हो गई है। ऑक्सीजन की कमी मौत का मुख्य कारण मानी जा रही है, जबकि कुछ सैलानियों को रेस्क्यू भी किया गया है। देर रात तक रेस्क्यू ऑपरेशन चलता रहा। इसके बाद इन्हें यहां से सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया। प्रशासन ने रोहतांग समेत लाहौल की ऊंची चोटियों में पर्यटकों के जाने पर पाबंदी लगा दी है। मनाली-लेह मार्ग भी बंद कर दिया गया है। वहीं अन्य ऊंचाई वाले क्षेत्रों में चलने वाली बस सेवाओं को भी बर्फबारी के चलते बंद करना पड़ गया है।

7 सैलानियों को किया गया रेस्क्यू।
7 सैलानियों को किया गया रेस्क्यू।

मिली जानकारी के अनुसार, रोहतांग दर्रे के बारालाचा, कुंजुम पास, मनाली, लाहौल स्पीति, धौलाधार और चंबा की ऊंची चोटियों के अलावा मणिमहेश में ताजा हिमपात हुआ। बर्फबारी के बाद 2 दिनों के लिए रोहतांग दर्रे में पर्यटकों के जाने पर रोक लगा दी गई, लेकिन अटल टनल से वाहनों की आवाजाही जारी रहेगी। लाहौल के सरचू में ऑक्सीजन की कमी से एक सैलानी की मौत हो गई। जबकि कुंजुम दर्रे से 7 पर्यटकों को रेस्क्यू किया गया। कुल्लू से काजा और किलाड़ चंबा रूट पर बस सेवा भी बंद कर दी गई है।

एक पर्यटक की ऑक्सीजन की कमी से मौत।
एक पर्यटक की ऑक्सीजन की कमी से मौत।

5 जिलों में बाढ़ का अलर्ट
मौसम विभाग ने 24 घंटों के लिए 5 जिलों में बाढ़ का अलर्ट भी जारी किया है। इसमें कांगड़ा, मंडी, कुल्लू और शिमला शामिल हैं। यहां पर बाढ़ आने की चेतावनी जारी की गई है और रेड अलर्ट भी जारी हुआ है। प्रदेश में 20 अक्टूबर से मौसम साफ हो जाएगा। इसके बाद ठंड पड़नी भी शुरू हो जाएगी।