संक्रमण का कहर:काेराेना से आईजीएमसी और डीडीयू में 10 की माैत; 163 नए संक्रमित, 202 की रिपोर्ट पेंडिंग

शिमला6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

आईजीएमसी और डीडीयू में काेराेना वीरवार काे 10 मरीजाें की माैत हाे गई। इसमें नाै माैतें आईजीएमसी जबकि एक माैत डीडीयू में हुई। मृतकाें में विजय नगर टुटू से 48 वर्षीय महिला, टुटू से 70 वर्षीय महिला, साेलन से 43 वर्षीय महिला, आनी शिमला से 58 वर्षीय व्यक्ति, काेटखाई शिमला से 55 वर्षीय महिला, भुंतर से 58 वर्षीय व्यक्ति, घणाहट्टी शिमला से 80 वर्षीय व्यक्ति, आनंदपुर शिमला से 76 वर्षीय महिला, नवबहार शिमला से 51 वर्षीय व्यक्ति, सुन्नी से 68 वर्षीय व्यक्ति शामिल है।

इसके अलावा जिले में वीरवार काे काेराेना के 163 नए मरीज आए हैं, जबकि 202 मरीजाें की रिपाेर्ट पेंडिंग रही। नए मरीजाें में आईजीएमसी से 31, चाैड़ा मैदान से 12, टुटू से छह, रामपुर से चार, मतियाणा से 18, सुन्नी से दाे, जुब्बल काेटखाई से 27, नेरवा से 13, ननखड़ी से नाै, कुमारसैन से 11, चिढ़गांव से पांच, साेलन से तीन, न्यू शिमला से चार, छाेटा शिमला, मेहली, ब्याेलिया, समरहिल, कुफ्टाधार, भराड़ी, फागली, अनाडेल, रझाणा, जुन्गा, मिलिट्री अस्पताल, राेहड़ू, बिलासपुर और मंडी से एक-एक मरीज आया है

संक्रमण कम करने के लिए प्रशासन ने मांगा लोगों का सहयोग

ठियोग प्रशासन ने ठियोग उपमंडल के गांवों में कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए लोगों से सहयोग की अपील की है। एसडीएम सौरव जस्सल ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए इस बात पर चिंता जताई कि लोग कई गांवों में अभी भी सामाजिक रीति रिवाजों को निभाने के लिए कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन करने से बाज नहीं आ रहे है। खासकर मातमपुर्सी और अन्य प्रकार के सामाजिक सरोकार निभाए जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि ठियोग उपमंडल में 88 प्रतिशत मामले कोरोना संक्रमितों के ग्रामीण इलाकों से आ रहे हैं। अप्रैल माह में जहां ठियोग उपमंडल में 300 केस आए थे वहीं मई में अभी तक 500 मामले अा चुके हैं। उन्होंने बताया कि लोगों की लापरवाही के कारण स्थिति दिनोदिन भयावह हो रही है और यदि हालात ऐसे ही रहे तो प्रशासन को कड़े कदम उठाने पड़ेंगे।

खबरें और भी हैं...