खमींगर ग्लेशियर में फंसे 14 लोगों का रेस्क्यू:32 सदस्यीय बचाव दल को रास्ते में ही मिल गए थे पर्वतारोही, दो की मौत हो चुकी थी

कुल्लू2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बचाव दल के सदस्य पर्वतरोहियों को लेकर वापस आते हुए। - Dainik Bhaskar
बचाव दल के सदस्य पर्वतरोहियों को लेकर वापस आते हुए।

लाहौल-स्पीति के खंमीगर ग्लेशियर में फंसे 14 पर्वतरोहियों को रेस्क्यू कर लिया गया है। सभी 14 पर्वतारोही 32 सदस्यीय बचाव दल को रास्ते में ही मिल गए थे। बचाव दल मंगलवार तड़के साढ़े तीन बजे ही पिन घाटी के काह गांव से रवाना हुआ था। लेकिन, रास्ते में ही वापस आ रहे सभी 14 पर्वतारोही उन्हें धार चांगो में ही मिल गए है। पर्वतारोही दोनों मृत साथियों के शवों को खंमीगर ग्लेशियर पर ही छोड़कर नीचे उतर रहे थे। अब देर शाम तक 14 पर्वतारोही काह बेस कैंप तक पहुंच जाएंगे। वहीं दोनों शवों को लाने का कार्य सुबह शुरू होगा। रेस्क्यू दल आज धार चांगो में ही रुकेगा।

पर्वतरोहियों को वापस लेकर जाते बचाव दल के सदस्य।
पर्वतरोहियों को वापस लेकर जाते बचाव दल के सदस्य।

उपायुक्त नीरज कुमार ने बताया कि SDM मोहन दत शर्मा ने सुबह रेस्क्यू दल को संबधित दिशा निर्देश दिए हैं। वहीं दो पुलिस कर्मी हेड कांस्टेबल करतार सिंह और कांस्टेबल अश्वनी कुमार काह गांव में बने बेस कैंप में तैनात किए गए हैं। रेस्क्यू दल GPS सिस्टम से लैस है। इसके साथ ही रहने खाने-पीने का सारा सामान रेस्क्यू दल के पास मौजूद है। 14 पर्वतारोही सदस्य रेस्क्यू दल को मिल गए हैं। अभी बेस कैंप की ओर दो ग्रुपों में बंटकर आ रहे हैं। इन्हें फिर काजा सीएचसी लाया जाएगा। रेस्क्यू दल में 16 जवान ITBP के और 6 सदस्य डोगरा स्काउट के हैं।

पर्वतराहियों को बचाने के लिए गया बचाव दल।
पर्वतराहियों को बचाने के लिए गया बचाव दल।

बचाव दल में एक चिकित्सक भी है। इसके अलावा 10 पोटर यानी बोझा उठाने वाले है। माउंटेनियरिंग फांउडेशन पश्चिम बंगाल का पर्वतारोही दल 15 सिंतबर को बातल से काजा के लिए वाया खंमीगर ग्लेशियर रवाना हुआ था। लेकिन बर्फबारी के कारण आगे का सफर करने में दल असमर्थ हो गया। खंमीगर ग्लेशियर पर ही दो सदस्यों की मौत गई। अन्य सभी सदस्यों ने वहीं पर ठहरने का फैसला किया और आगे का ट्रैक पूरा नहीं किया। इसके बाद एक पर्वतारोही और एक शेरपा ने काजा एसडीएम को दल के दो सदस्यों की मौत होने और अन्य सदस्यों के फंसने की सूचना दी।

जानकारी मिलते ही प्रशासन ने रेस्क्यू दल काजा से काह के लिए रवाना कर दिया। खंमीगर ग्लेशियर पर दल के अन्य सदस्य सुरक्षित हैं। उनके पास रहने और खाने-पीने का सामान पर्याप्त है। SDM मोहन दत शर्मा के साथ डीएसपी रोहित मृगपुरी विशेष तौर पर मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...