हिमाचल में कोरोना ने पकड़ी रफ्तार:एक दिन में 260 नए केस, कांगड़ा में सबसे ज्यादा 104 कोरोना संक्रमित मिले, 859 एक्टिव मरीज

शिमला4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अब तक 2,29,413 लोग कोरोना की चपेट में आए। - Dainik Bhaskar
अब तक 2,29,413 लोग कोरोना की चपेट में आए।

प्रदेश में काेराेना संक्रमण के मामलाें में एक बार फिर तेजी आने लगी है। बीते 24 घंटाें के दाैरान प्रदेश में काेराेना के 260 नए केस मिले हैं। इससे प्रदेश में काेराेना के सक्रिय मरीजाें का आंकड़ा बढ़कर 859 पहुंच गया है। मंगलवार को कांगड़ा में 104 लोगों में काेराेना पॉजिटिव की पुष्टि हुई है। इसके अलावा शिमला में 32, ऊना में 30, मंडी में 20, सिरमाैर में 16, साेलन में 18, लाहाैल स्पीति में 11, कुल्लू में 11, किन्नाैर में दाे हमीरपुर में 11, बिलासपुर में 7 और चंबा में काेराेना के 6 नए मामले मिले हैं।

इससे प्रदेश में काेराेना संक्रमण का आंकड़ा 2,29,413 के पास पहुंच गया है। 22 मरीज काेराेना से ठीक भी हुए हैं। इससे प्रदेश में काेराेना संक्रमण से ठीक हाेने वालाें का आंकड़ा 2,24,663 पहुंच गया है। प्रदेश में एक मरीज ने इस संक्रमण से जूझते हुए दम भी ताेड़ा है। प्रदेश में इस बीमारी से मरने वालों की संख्या 3862 पहुंच गई है। प्रदेश में ठीक होने वालों का आंकड़ा 97.92% है।

सीएम का दावा: 15 से 18 के किशोराें को टीका लगाने में भी प्रदेश अग्रणी बनेगा

खराब मौसम के बावजूद प्रदेश में दूसरे दिन 15 से 18 साल आयु वर्ग के 74548 बच्चों को को-वैक्सीन की पहली डोज लगाई गई। पहले दिन 91 हजार के करीब बच्चों को वेक्सीन की डोज लग चुकी है। 2 दिनों में हिमाचल में 1 लाख 65 हजार 680 बच्चों को वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी है। राज्य में 4 लाख 80 हजार बच्चों को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य स्वास्थ्य विभाग ने रखा है।

ऐसे में अब तीन लाख 20 हजार के करीब ही बच्चे शेष रह गए हैं। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने खराब मौसम के बावजूद राज्य में 15-18 वर्ष आयु वर्ग के किशोरों के टीकाकरण में प्रतिबद्धता और समर्पण के लिए डाॅक्टरों, पैरामेडिकल स्टाफ व स्वास्थ्य कर्मियों का आभार व्यक्त किया है। उन्होंने किशोरों द्वारा दिखाए गए उत्साह की सराहना की है।

उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं की कड़ी मेहनत और समर्पण के कारण ही हिमाचल प्रदेश राज्य की पात्र आबादी के शत-प्रतिशत टीकाकरण का लक्ष्य प्राप्त करने वाला देश का पहला राज्य बन गया है। मुख्यमंत्री ने विश्वास जताया कि 15-18 वर्ष आयु वर्ग के टीकाकरण के लक्ष्य को प्राप्त करने में भी अग्रणी राज्य बनेगा।

खबरें और भी हैं...