• Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • 63 Million Rupees Will Be Received In The Budget For Upgrading Sewerage Treatment Plants Of Dhali, Malyana And Lalpani

सुविधा:ढली, मल्याणा और लालपानी के सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट हाेंगे अपग्रेड, इसके लिए बजट में 63 करोड़ रुपए मिले

शिमला9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट - Dainik Bhaskar
सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट
  • प्लांट्स से निकलने वाले पानी से लोग बीमार न हो, इस पर होगा आधुनिक काम

शहर में नगर निगम के तहत आने वाले ढली, मल्याणा और लालपानी के सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट अपग्रेड हाेंगे। इसकाे बेहतर और आधुनिक तरीके से अपग्रेड किया जाएगा। सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट्स से निकलने वाले पानी से लोगों को बीमारियों के खतरे से बचाने के लिए इसमें आधुनिक काम किया जाएगा।

सरकार की ओर से बजट में इसके लिए 94 कराेड़ रुपए का बजट रखा है। नगर निगम के तीन सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट ढली, मल्याणा और लालपानी को एसबीआर टैक्नोलॉजी के तहत अपग्रेड करने का काम पहले से किया जा रहा है। अब बजट मिलने से इसमें और तेजी आएगी।

इन तीनाें सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट पर 63 कराेड़ रुपए खर्च हाेंगे। हैपेटाइटिस से बचाव के लिए न तो सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट में और न ही अश्वनी खड्ड परियोजना में कोई प्रयास किया गया था। निरीक्षण के दौरान पाया गया कि अश्वनी खड्ड का दूषित पानी ही शहर में पीलिया फैलने की मुख्य वजह थी।

अश्वनी खड्ड में बनेगा सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट, लोगों को मिलेगा साफ पानी

अश्वनी खड्ड पेयजल परियोजना पर नया सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट बनेगा। इसके लिए सरकार ने 12 कराेड़ रुपए की राशि जारी की है। ऐसा करने से केवल अश्वनी खड्ड जल स्त्रोत में शहरवासियों को शुद्ध पेयजल ही सप्लाई होगा।

इससे पहले अश्वनी खड्ड में बने पुराने ट्रीटमेंट प्लांट से सीवरेज युक्त पानी मिलने से शहर में पीलिया फैला था। करीब दो दर्जन से अधिक लोगों की जान चली गई थी जबकि पांच हजार से अधिक लोग पीलिया की चपेट में आए थे। ऐसे में अब अगर यहां सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट बनता है ताे लाेगाें काे साफ पानी मिलेगा।

24 घंटे पानी के लिए 270 कराेड़

​​​​​ उपनगर टुटू में 18 कराेड़ की लागत से सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट बनेगा। इसके लिए बजट में प्रावधान किया है। शहरवासियों को 24 घंटे पेयजल सप्लाई देने का प्रोजेक्ट शुरू किया जाएगा। एसजेवीएनएल कंपनी इस पर काम शुरू करेगी। इसके लिए 270 कराेड़ का बजट रखा है।

6 ट्रीटमेंट प्लांट चल रहे शहर में
वर्तमान में शिमला में छह सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट चल रहे हैं। इसमें लालपानी, मल्याणा, ढली, वरमू, गोलछा, समरहिल शामिल हैं। कुछ साल पहले शहर में पीलिया फैला था। उस समय निरीक्षण के दौरान पता लगा था कि सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट से निकलने वाली गंदगी सीधे अश्वनी खड्ड के पानी में मिल रही है।

खबरें और भी हैं...