पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • After The Nomination, Meetings Were Held By Local Leaders And Former Representatives In Many Panchayats To Seat Candidates.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सियासी जोड़तोड़ शुरू:नॉमिनेशन के बाद कई पंचायतों में प्रत्याशियों काे बिठाने के लिए स्थानीय नेताओं और पूर्व प्रतिनिधियों ने कीं बैठकें

शिमला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • प्रत्याशियाें से बातचीत कर नाम वापस लेने के लिए मनाने का दाैर चला

पंचायत चुनाव में नाेमिनेशन की प्रक्रिया पूरी हाेते ही अब पंचायताें में बैठकाें का दाैर शुरू हाे चुका है। रविवार काे जिला की कई पंचातयाें में बैठकें हुई। इसमें स्थानीय नेताओं के साथ-साथ पंचायताें पूर्व प्रतिनिधी भी आए। इसके अलावा प्रत्याशियाें काे भी बैठकाें में बुलाया गया था। अधिकांश पंचायताें में प्रत्याशियाें से बातचीत कर उन्हें नाम वापिस लेने के लिए भी मनाने का दाैर चला।

इसमें विकास के साथ-साथ एरिया के अनुसार सीटे आबंटित करने काे लेकर भी जमकर राजनीति हुई। नामांकन के बाद अक्सर चुनाव में इस तरह की राजनीति हाेती है। आज की राजनीति कितनी हावी हुई है, इसका पता अब 6 जनवरी काे ही लगेगा, क्याेंकि 6 जनवरी काे नामांकन वापिस लेने की प्रक्रिया हाेगी।

नामांकन के बाद चलता है ऐसा दाैर
नामांकन प्रक्रिया के पूरी हाेते ही हर गांव में बैठकाें का दाैर शुरू हाे जाता है। इसमें नाम वापसी तक कई बैठकें हाेती है। अधिकांश प्रत्याशी अपने समर्थकाें से बैठकें कर यह पता कर लेते हैं कि उनके पक्ष में कितने वाेटर है और विराेध में कितने।

ऐसे में उन्हें अगर लगता है पलड़ा भारी है ताे वह चुनाव में कूद जाते हैं। अगर उन्हें लगे कि उनकी हार हाे सकती है ताे वह फिर चुनाव से अपना नाम वापिस ले लेते हैं। इससे जहां वह चुनावी खर्च से बच जाते हैं, वहीं उन्हें गांव-गांव घूमने की जरूरत भी नहीं रहती।

प्रत्याशी चलते हैं ऐसे दाव: चुनाव के दाैरान अक्सर प्रत्याशी ऐसे दाव चलते हैं कि वह अपने करीबियाें से नामांकन भरवा लेते हैं। जब पंचायताें में बैठकें हाेती और प्रत्याशियाें काे मनाकर नाम वापिस लेने की काेशिश की जाती है ताे फिर चुनाव लड़ने की फिराक में बैठे प्रत्याशी अपना दाव चलते हैं।

वह जिन करीबियाें से नामांकन भरवाते हैं उनसे अपना नाम वापिस लेने की शर्त पर समर्थन ले लेते हैं। ऐसे में उनका दबदबा साबित हाे जाता है। जिस प्रत्याशी के समर्थन में ज्यादा उम्मीदवार नाम वापिस लेने की बात करते हैं, उन्हें कई बार निर्विराेध भी चुन लिया जाता है।

6 जनवरी के बाद नहीं हाेगा माैका
पंचायत में 6 जनवरी काे नाम वापस लेने का दिन हाेगा। यह वह आखिर माैका हाेगा, जब प्रत्याशी चुनाव मैदान से अपना नाम वापिस ले सकेंगे। उसके बाद उन्हें चुनाव में कूदना ही हाेगा। ऐसे में अब तीनाें दिनाें में कई प्रत्याशी बिना चुनाव लड़े अपनी कई मांगें मनवा लेंगे।

वह इसी शर्त पर अपना नाम वापिस लेने काे तैयार हाे जाएंगे कि उनकी मनचाही मांगें पूरी हाे जाए। चुनाव में इस तरह की चाल कई प्रत्याशी जानबूझकर चलते हैं, ताकि बिना चुनाव के उन्हें अपनी मांगें मनवाने का माैका मिल जाए।

आज हाेगी स्क्रूटनी
पंचायत चुनाव में आज स्क्रूटनी का दिन हाेगा। इसमें प्रत्याशियाें के नामांकन की छंटनी की जाएगी। जिस प्रत्याशी ने नामांकन पत्र में गलतियां की हाेगी, उनका नामांकन पत्र रद्द कर दिया जाएगा। हालांकि जब प्रत्याशी नामांकन पत्र दाखिल करते हैं ताे चुनाव अधिकारी उसकी जांच कर लेते हैं। मगर कई बार भीड़ में इतना समय नहीं हाेता कि हर प्रत्याशी का नामांकन सही जांच हाे सके। ऐसे में आज जांच दाेबारा से प्रत्याशियाें के पूरे दस्तावेजाें की जांच हाेगी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आपकी प्रतिभा और व्यक्तित्व खुलकर लोगों के सामने आएंगे और आप अपने कार्यों को बेहतरीन तरीके से संपन्न करेंगे। आपके विरोधी आपके समक्ष टिक नहीं पाएंगे। समाज में भी मान-सम्मान बना रहेगा। नेग...

    और पढ़ें