मुख्यमंत्री को धमकियां देना बंद करे पन्नू:AIATF चीफ बिट्टा ने दी चेतावनी, कहा-ISI के इशारे पर काम कर रहा पन्नू

शिमलाएक महीने पहले
AIATF चीफ MS बिट्टा शिमला में प्रेस वार्ता करते हुए। - Dainik Bhaskar
AIATF चीफ MS बिट्टा शिमला में प्रेस वार्ता करते हुए।

अखिल भारतीय आतंकवाद विरोधी फ्रंट (AIATF) चीफ MS बिट्टा ने कहा कि गुरपतवंत सिंह पन्नू पाकिस्तान और ISI के इशारे पर काम कर रहा है। बिट्‌टा ने शिमला में आयोजित प्रेस वार्ता में पन्नू को चेतावनी दी है कि वह हिमाचल के मुख्यमंत्री को बार-बार धमकी देना बंद करे। अगर हिम्मत है तो उनसे आकर वन-टू-वन बात करें।

उन्होंने कहा कि पन्नू ने पगड़ी कभी पहनी नहीं। दाढ़ी कभी रखी नहीं। कहां का सिख बन गया। फिर बात करता है खालिस्तान की। उन्होंने कहा कि हिमाचल, पंजाब और सारा देश हमारा है। इसलिए सभी को खालिस्तान मुर्दाबाद कहना होगा। उन्होंने कहा कि हमें खालिस्तान के खिलाफ आवाज उठानी है। यह आवाज गुरुद्वारों से भी उठनी चाहिए।

बिट्टा ने कहा कि हिमाचल देवभूमि है। यहां देशभर से पर्यटक बेखौफ होकर घूमने आते हैं। सैलानियों ने सुरक्षा को कभी अहमियत नहीं दी। अब देवभूमि का निशाने पर आ जाना और धमकियां शुरू देना दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि पन्नू दूरदराज से धमकियां देता है। अगर दम है तो सामने आकर बात करे।

गौरतलब है कि खालिस्तानी समर्थक पन्नू पिछले एक साल से निरंतर मुख्यमंत्री को धमकियां दे रहा है। कई बार प्रदेश के पत्रकारों और नेताओं को फोन करके यह धमकियां दी जा रही है। उधर, धर्मशाला में विधानसभा के गेट पर भी खालिस्तानी समर्थक द्वारा नारे लिखे जाते हैं। खालिस्तानी की धमकियों के बाद शिमला के रिज पर सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है। यहां पर QRT जवानों को तैनात किया गया है।